मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

500 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
बॉट: date प्रारूप बदला।
}}
 
{{ऑडियो|Lif-Sikkim.ogg|'''सिक्किम'''}} (या, ''सिखिम'') [[भारत]] पूर्वोत्तर भाग में स्थित एक पर्वतीय [[राज्य]] है। अंगूठे के आकार का यह राज्य पश्चिम में [[नेपाल]], उत्तर तथा पूर्व में चीनी [[तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र]] तथा दक्षिण-पूर्व में [[भूटान]] से लगा हुआ है। भारत का [[पश्चिम बंगाल]] राज्य इसके दक्षिण में है।<ref name="Physical Feature">{{cite web|url=http://sikkimipr.org/GENERAL/ecosystem/ecosystem.htm |title=Physical Features of Sikkim|access-date=[[12 अक्तूबर]] [[2006]]|date=[[2005-09-29 सितंबर 2005]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of Sikkim}}</ref> [[अंग्रेजी]], [[नेपाली भाषा|नेपाली]], [[लेप्चा भाषा|लेप्चा]], [[भूटिया भाषा|भूटिया]], [[लिंबू भाषा|लिंबू]] तथा [[हिन्दी]] आधिकारिक भाषाएँ हैं परन्तु लिखित व्यवहार में अंग्रेजी का ही उपयोग होता है। [[हिन्दू धर्म|हिन्दू]] तथा [[बज्रयान बौद्ध]] धर्म सिक्किम के प्रमुख [[धर्म]] हैं। [[गंगटोक]] राजधानी तथा सबसे बड़ा शहर है।<ref name="Sikkim Info">{{cite web|url= http://www.sikkiminfo.net/general_info.htm|title= General Information|access-date=[[12 अक्तूबर]] [[2006]]|publisher= सिक्किमइंफ़ो.नेट}}</ref>
 
सिक्किम [[नामग्याल राजतन्त्र|नाम ग्याल राजतन्त्र]] द्वारा शासित एक स्वतन्त्र राज्य था, परन्तु प्रशासनिक समस्यायों के चलते तथा भारत से विलय के जनमत के कारण १९७५ में एक जनमत-संग्रह के अनुसार भारत में विलीन हो गया।<ref name="सिक्किम - इतिहास">{{cite web|url=http://www.gloriousindia.com/places/states/sikkim.html |title=Sikkim|access-date=23 जनवरी 2007|date=[[31 दिसंबर]] [[2006]] |publisher=www.gloriousindia.com}}</ref> उसी जनमत संग्रह के पश्चात राजतन्त्र का अन्त तथा भारतीय संविधान की नियम-प्रणाली के ढाचें में प्रजातन्त्र का उदय हुआ।<ref name="इतिहास">{{cite web|url=http://www.sikkimipr.org/GENERAL/HISTORY/history_of_sikkim.htm |title=History of Sikkim|access-date=12 अक्तूबर 2006|date=[[29 सितंबर]] [[2005]] |publisher=डिपार्टमेंट ऑफ़ इंफ़रमेशन एंड पब्लिक रिलेशंस, गवर्नमेंट ऑफ़ सिक्किम}}</ref>
 
== नाम का मूल ==
'सिक्किम' शब्द का सर्वमान्य स्रोत [[लिम्बू]] भाषा के शब्दों ''सु'' (अर्थात "नवीन") तथा ''ख्यिम'' (अर्थात "महल" अथवा "घर" - जो कि प्रदेश के पहले राजा फुन्त्सोक नामग्याल के द्वारा बनाये गये महल का संकेतक है) को जोड़कर बना है। [[तिब्बती]] भाषा में सिक्किम को "चावल की घाटी" कहा जाता है।<ref name="About">{{cite web|url=http://sikkimipr.org/GENERAL/about_sikkim/SIKKIM.HTM |title=About Sikkim|accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006|date=[[2005-09-29 सितंबर 2005]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of Sikkim}}</ref>
 
== इतिहास ==
[[1791]] में चीन ने सिक्किम की मदद के लिये और तिब्बत को गोरखा से बचाने के लिये अपनी सेना भेज दी थी। नेपाल की हार के पश्चात, सिक्किम [[किंग वंश]] का भाग बन गया। पड़ोसी देश [[भारत]] में [[ब्रतानी राज]] आने के बाद सिक्किम ने अपने प्रमुख दुश्मन [[नेपाल]] के विरुद्ध उससे हाथ मिला लिया। नेपाल ने सिक्किम पर आक्रमण किया एवं [[तराई]] समेत काफी सारे क्षेत्रों पर कब्जा कर लिया। इसकी वज़ह से [[ईस्ट इंडिया कम्पनी]] ने नेपाल पर चढ़ाई की जिसका परिणाम १८१४ का [[गोरखा युद्ध]] रहा।
 
सिक्किम और नेपाल के बीच हुई [[सुगौली संधि]] तथा सिक्किम और ब्रतानवी भारत के बीच हुई [[तितालिया संधि]] के द्वारा नेपाल द्वारा अधिकृत सिक्किमी क्षेत्र सिक्किम को वर्ष १८१७ में लौटा दिया गया। यद्यपि, अंग्रेजों द्वारा मोरांग प्रदेश में कर लागू करने के कारण सिक्किम और अंग्रेजी शासन के बीच संबंधों में कड़वाहट आ गयी। वर्ष १८४९ में दो अंग्रेज़ अफसर, सर जोसेफ डाल्टन और डाक्टर अर्चिबाल्ड कैम्पबेल, जिसमें उत्तरवर्ती (डाक्टर अर्चिबाल्ड) सिक्किम और ब्रिटिश सरकार के बीच संबंधों के लिए जिम्मेदार था, बिना अनुमति अथवा सूचना के सिक्किम के पर्वतों में जा पहुंचे। इन दोनों अफसरों को सिक्किम सरकार द्वारा बंधी बना लिया गया। नाराज ब्रिटिश शासन ने इस हिमालयी राज्य पर चढाई कर दी और इसे १८३५ में भारत के साथ मिला लिया। इस चढाई के परिणाम वश चोग्याल ब्रिटिश गवर्नर के आधीन एक कठपुतली राजा बन कर रह गया।<ref name="Hist">{{cite web|url=http://sikkim.nic.in/sws/sikk_his.htm |title= History of Sikkim|accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006|date=[[2002-08-29 अगस्त 2002]]|publisher=Government of Sikkim}}</ref>
[[चित्र:Dodrulchortenstupa.jpg|thumb|240px|[[द्रुल चोर्तेन स्तूप]] [[गंगटोक]] का प्रसिद्ध [[स्तूप]]]]
१९४७ में एक लोकप्रिय मत द्वारा सिक्किम का [[भारत]] में विलय को अस्वीकार कर दिया गया और तत्कालीन भारतीय प्रधान मंत्री [[जवाहर लाल नेहरू]] ने सिक्किम को संरक्षित राज्य का दर्जा प्रदान किया। इसके तहत भारत सिक्किम का संरक्षक हुआ। सिक्किम के विदेशी, राजनयिक अथवा सम्पर्क संबन्धी विषयों की ज़िम्मेदारी भारत ने संभाल ली।
वर्ष २००२ मे [[चीन]] को एक बड़ी लज्जा का सामना तब करना पड़ा जब सत्रहवें कर्मापा [[उर्ग्यें त्रिन्ले दोरजी]], जिन्हें चीनी सरकार एक लामा घोषित कर चुकी थी, एक नाटकीय अंदाज में तिब्बत से भाग कर सिक्किम की [[रुम्तेक मठ]] मे जा पहुंचे। चीनी अधिकारी इस [[धर्मसंकट]] मे जा फँसे कि इस बात का विरोध भारत सरकार से कैसे करें। भारत से विरोध करने का अर्थ यह निकलता कि चीनी सरकार ने प्रत्यक्ष रूप से सिक्किम को भारत के अभिन्न अंग के रूप मे स्वीकार लिया है।
 
[[चीन|चीनी सरकार]] की अभी तक सिक्किम पर औपचारिक स्थिति यह थी कि सिक्किम एक स्वतंत्र राज्य है जिस पर भारत नें अधिक्रमण कर रख्खा है।<ref name="इतिहास"/><ref name="Independence">{{cite web|url=http://www.sikkiminfo.net/elections_after_merger.htm |title=Elections after the merger|accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006|publisher=Sikkiminfo.net}}</ref>
चीन ने अंततः सिक्किम को २००३ में भारत के एक राज्य के रूप में स्वीकार किया जिससे भारत-चीन संबंधों में आयी कड़वाहट कुछ कम हुई। बदले में भारत नें [[तिब्बत]] को चीन का अभिन्न अंग स्वीकार किया।
 
भारत और चीन के बीच हुए एक महत्वपूर्ण समझौते के तहत चीन ने एक औपचारिक मानचित्र जारी किया जिसमें सिक्किम को स्पष्ट रूप मे भारत की सीमा रेखा के भीतर दिखाया गया। इस समझौते पर चीन के प्रधान मंत्री [[वेन जियाबाओ]] और भारत के प्रधान मंत्री [[मनमोहन सिंह]] ने हस्ताक्षर किया। ६ जुलाई २००६ को [[हिमालय]] के [[नाथुला]] दर्रे को सीमावर्ती व्यापार के लिए खोल दिया गया जिससे यह संकेत मिलता है कई इस क्षेत्र को लेकर दोनों देशों के बीच सौहार्द का भाव उत्पन्न हुआ है।<ref name="नाथुला">{{cite news|url =http://news.bbc.co.uk/2/hi/south_asia/5150682.stm|title =Hisotric India-China link opens|publisher = [[BBC]]|date = [[6 जुलाई 2006-07-06]]|accessdate =2006-10-12 अक्टूबर 2006}}</ref>
 
== भूगोल ==
सिक्किम में चार जनपद हैं। प्रत्येक जनपद (जिले) को केन्द्र अथवा राज्य सरकार द्वारा नियुक्त [[जिलाधिकारी]] देखता है। चीन की सीमा से लगे होने के कारण अधिकतर क्षेत्रों में [[भारतीय सेना]] का बाहुल्य दिखाई देता है। कई क्षेत्रों में प्रवेश निषेध है और लोगों को घूमने के लिये [[विदेशी (Protected Areas) Order 1958 (भारत)|परमिट]] लेना पड़ता है। सिक्किम में कुल आठ कस्बे एवं नौ उप-विभाग हैं।
 
यह चार जिले [[पूर्व सिक्किम]], [[पश्चिम सिक्किम]], [[उत्तरी सिक्किम]] एवं [[दक्षिणी सिक्किम]] हैं जिनकी राजधानियाँ क्रमश: [[गंगटोक]], [[गेज़िंग]], [[मंगन]] एवं [[नामची]] हैं।<ref name="Sikkim Info"/> यह चार जिले पुन: विभिन्न उप-विभागों में बाँटे गये हैं। "पकयोंग" पूर्वी जिले का, "सोरेंग" पश्चिमी जिले का, "चुंगथांग" उत्तरी जिले का और "रावोंगला" दक्षिणी जिले का उपविभाग है।<ref name="Stats">{{cite web|url=http://www.sikkimipr.org/GENERAL/STATS/sikkimataglance.htm |title=Sikkim at a glance|accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006|date=[[2005-09-29 सितंबर 2005]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of Sikkim}}</ref>
 
=== जीव-जन्तु एवं वनस्पति ===
== अर्थ-व्यवस्था ==
=== वृहत् अर्थव्यवस्थासंबंधी प्रवाह ===
यह ''सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय'' द्वारा जारी सिक्किम के सकल घरेलू उत्पाद के प्रवाह की एक झलक है (करोड़ रुपयों में)<ref>{{cite web|url=http://mospi.nic.in/mospi_nad_main.htm |title=National Accounts Division : Press release & Statements|accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006|date=[[2006-05-23 मई 2006]]|publisher=Ministry of Statistics and Programme Implementation}}</ref>
{| class="wikitable"
|-
२००४ के आँकड़ों के अनुसार सिक्किम का [[सकल घरेलू उत्पाद]] $४७८ [[मिलियन]] होने का अनुमान लगाया गया है।
 
सिक्किम एक [[कृषि प्रधान। कृषि]] राज्य है और यहाँ सीढ़ीदार खेतों में पारम्परिक पद्धति से कृषि की जाती है। यहाँ के किसान [[इलाईची]], [[अदरक]], [[संतरा]], [[सेब]], [[चाय]] और [[पीनशिफ]] आदि की खेती करते हैं।<ref name="Sikkim Info"/>[[चावल]] राज्य के दक्षिणी इलाकों में सीढ़ीदार खेतों में उगाया जाता है। सम्पूर्ण भारत में इलाईची की सबसे अधिक उपज सिक्किम में होती है। पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण और परिवहन की आधारभूत सुविधाओं के अभाव में यहाँ कोई बड़ा उद्योग नहीं है। [[मद्यनिर्माणशाला]], [[मद्यनिष्कर्षशाला]], [[चर्म-उद्योग]] तथा [[घड़ी-उद्योग]] सिक्किम के मुख्य उद्योग हैं। यह राज्य के दक्षिणी भाग में स्थित हैं- मुख्य रूप से [[मेल्ली]] और [[जोरेथांग]] नगरों में। राज्य में विकास दर ८.३% है, जो दिल्ली के पश्चात राष्ट्र भर में सर्वाधिक है।<ref name="Economy">{{cite web|url=http://sikkimipr.org/GENERAL/ECONOMY/ECONOMY.HTM |title=Economy of Sikkim|accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006|date=[[2005-09-29 सितंबर 2005]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of Sikkim}}</ref>
[[चित्र:elaichi.jpg|thumb|240px|[[इलायची]] सिक्किम की मुख्य [[नकदी फसल]] है]]
 
हाल के कुछ वर्षों में सिक्किम की सरकार ने प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देना प्रारम्भ किया है। सिक्किम में पर्यटन का बहुत संभावना है और इन्हीं का लाभ उठाकर सिक्किम की आय में अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। आधारभूत संरचना में सुधार के चलते, यह उपेक्षा की जा रही है पर्यटन राज्य में अर्थव्यवस्था के एक मुख्य आधार के रूप में सामने आयेगा। ऑनलाइन सट्टेबाजी राज्य में एक नए उद्योग के रूप में उभर कर आया है। "प्लेविन" [[जुआ]], जिसे विशेष रूप से तैयार किए गए अंतकों पर खेला जाता है, को राष्ट्र भर में खूब वाणिज्यिक सफलता हासिल हुई है।<ref name="Playwin">{{cite web|url=http://www.lotteryinsider.com/lottery/playwin.htm|title= Playwin lottery|accessdate= 2006-10-12 अक्टूबर 2006|date= [[2006-08-20 अगस्त 2006]]|publisher= Interplay Multimedia Pty. Ltd.}}</ref><ref name="Playwin">{{cite web|url= http://www.lotteryinsider.com/lottery/playwin.htm|title= Playwin lottery|accessdate= 2006-10-12 अक्टूबर 2006|date= [[2006-08-20 अगस्त 2006]]|publisher= Interplay Multimedia Pty. Ltd.}}</ref> राज्य में प्रमुख रूप से [[ताम्बा]], [[डोलोमाइट]], [[चूना पत्थर]], [[ग्रेफ़ाइट]], [[अभ्रक]], [[लोहा]] और [[कोयला]] आदि खनिजों का खनन किया जाता है।<ref name="Mining">{{cite web|url= http://sikkim.nic.in/sws/home_eco.htm#mini|title= Sikkim's Economy |accessdate= 2006-10-12 अक्टूबर 2006|date= [[2002-08-29 अगस्त 2002]]|publisher=[[राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्द्र]]}}</ref>
 
[[जुलाई ६]], [[२००६]] को [[नाथूला दर्रा]], जो सिक्किम को [[ल्हासा]], [[तिब्बत]] से जोड़ता है, के खुलने से यह आशा जतायी जा रही है कि इससे सिक्किम की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा, भले वे धीरे-धीरे ही देखने को मिलें। यह दर्रा, जो १९६२ में [[१९६२ भारत-चीन युद्ध। भारत-चीन युद्ध]] के पश्चात बंद कर दिया गया था, प्राचीन [[रेशम मार्ग]] का एक हिस्सा था और [[ऊन]], [[छाल]] और [[मसालों। मसाला]] के व्यापार में सहायक था।<ref name="नाथुला"/>
 
== परिवहन ==
सिक्किम में कठिन भूक्षेत्र के कारण कोई [[हवाई अड्डा]] अथवा रेल स्टेशन नहीं है। समीपतम हवाईअड्डा [[बागडोगरा|बागदोगरा हवाईअड्डा]], [[सिलीगुड़ी]], [[पश्चिम बंगाल]] में है। यह हवाईअड्डा गंगटोक से १२४ कि०मी० दूर है। गंगटोक से बागदोगरा के लिये ''सिक्किम हेलीकॉप्टर सर्विस'' द्वारा एक [[हेलीकॉप्टर]] सेवा उपलब्ध है जिसकी उड़ान ३० मिनट लम्बी है, दिन में केवल एक बार चलती है और केवल ४ लोगों को ले जा सकती है।<ref name="Thirty years">{{cite web|url=http://sikkimipr.org/IPR/statehood/statehood_nutshell.htm |title= 30 Years of Statehood In a Nutshell |accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006 |date=[[2005-11-24 नवंबर 2005]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of सिक्किम}}</ref> गंगटोक [[हैलीपैड]] राज्य का एकमात्र असैनिक हैलीपैड है। निकटतम [[भारतीय रेल|रेल]] स्टेशन [[न्यू जलपाईगुड़ी|नई जलपाईगुड़ी]] में है जो सिलीगुड़ी से १६ [[किलोमीटर। कि०मी०]] दूर है।<ref name="Sikkim Info"/>
 
राष्ट्रीय राजमार्ग ३१A सिलीगुड़ी को गंगटोक से जोड़ता है। यह एक सर्व-ऋतु मार्ग है तथा सिक्किम में [[रंग्पो]] पर प्रवेश करने के पश्चात [[तीस्ता नदी]] के समानान्तर चलता है। अनेक सार्वजनिक अथवा निजी वाहन हवाई-अड्डे, रेल-स्टेशन तथा और सिलिगुड़ी को गंगटोक से जोड़ते हैं। [[मेल्ली]] से आने वाले राजमार्ग की एक शाखा पश्चिमी सिक्किम को जोड़ती है। सिक्किम के दक्षिणी और पश्चिमी शहर सिक्किम को उत्तरी पश्चिमी बंगाल के पर्वतीय शहर [[कलिम्पोंग]] और [[दार्जीलिंग]] से जोड़ते हैं। राज्य के भीतर [[चौपहिया]] वाहन लोकप्रिय हैं क्योंकि यह राज्य की चट्टानी चढ़ाइयों को आसानी से पार करने में सक्षम होते हैं। छोटी बसें राज्य के छोटे शहरों को राज्य और जिला मुख्यालयों से जोड़ती हैं।<ref name="Sikkim Info"/>
[[हिन्दू धर्म]] राज्य का प्रमुख धर्म है जिसके अनुयायी राज्य में ६०.९% में हैं।<ref name="censusindia.net">http://www.censusindia.net/religiondata/ 2001 Indian Census Data</ref> [[बौद्ध धर्म]] के अनुयायी २८.१% पर एक बड़ी अल्पसंख्या में हैं।<ref name="censusindia.net"/> सिक्किम में [[ईसाई। ईसाइयों]] की ६.७% आबादी है जिनमे मूल रूप से अधिकतर वे लेपचा हैं जिन्होंने उन्नीसवीं सदी के उत्तरकाल में [[संयुक्त राजशाही। अंग्रेज़ी]]धर्मोपदेशकों के प्रचार के बाद ईसाई मत अपनाया। राज्य में कभी साम्प्रदायिक तनाव नहीं रहा। मुसलमानों की १.४% प्रतिशत आबादी के लिए गंगटोक के व्यापारिक क्षेत्र में और [[मंगन]] में [[मस्जिद। मस्जिदें]] हैं।<ref name="censusindia.net"/>
 
[[नेपाली भाषा|नेपाली]] सिक्किम का प्रमुख भाषा है। सिक्किम में प्रायः [[अंग्रेज़ी]] और [[हिन्दी]] भी बोली और समझी जाती हैं। यहाँ की अन्य भाषाओं मे [[भूटिया भाषा|भूटिया]], [[जोंखा भाषा|जोंखा]], [[ग्रोमा भाषा|ग्रोमा]], [[गुरुंग भाषा|गुरुंग]], [[लेप्चा भाषा|लेप्चा]], [[लिम्बु भाषा|लिम्बु]], [[मगर भाषा|मगर]], [[माझी भाषा|माझी]], [[मझवार भाषा|मझवार]], [[नेपालभाषा]], [[दनुवार भाषा|दनुवार]], [[शेर्पा भाषा|शेर्पा]], [[सुनवार भाषा। सुनवार]], [[तामाङ भाषा|तामाङ]], [[थुलुंग भाषा|थुलुंग]], [[तिब्बती भाषा|तिब्बती]] और [[याक्खा भाषा|याक्खा]] शामिल हैं।<ref name="Sikkim Info"/><ref name="People">{{cite web|url=http://sikkimipr.org/GENERAL/PEOPLE/PEOPLE.HTM |title= People of Sikkim |accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006 |date=[[2005-09-29 सितंबर 2005]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of Sikkim}}</ref>
 
५,४०,४९३ की जनसंख्या के साथ सिक्किम भारत का न्यूनतम आबादी वाला राज्य है,<ref>{{cite web| url=http://www.censusindia.net/profiles/sik.html |title=Sikkim statistics|accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006|publisher=Government of India}}</ref> जिसमें पुरुषों की संख्या २,८८,२१७ है और महिलाओं की संख्या २,५२,२७६ है। सिक्किम में जनसंख्या का घनत्व ७६ मनुष्य प्रतिवर्ग किलोमीटर है पर भारत में न्यूनतम है। विकास दर ३२.९८% है (१९९१-२००१)। [[लिंगानुपात]] ८७५ [[स्त्री]] प्रति १००० [[पुरुष]] है। ५०,००० की आबादी के साथ गंगटोक सिक्किम का एकमात्र महत्तवपूर्ण शहर है। राज्य में शहरी आबादी लगभग ११.०६% है।<ref name="Stats"/> [[प्रति व्यक्ति आय]] ११,३५६ [[रुपया|रु०]] है, जो राष्ट्र के सबसे सर्वाधिक में से एक है।<ref name="People"/>
[[चित्र:Vikramjit-Kakati-Rumtek.jpg|550px|center|thumb|रुमटेक मठ]]
 
== संस्कृति ==
[[चित्र:Gumpa.jpg|thumb|240px|[[ल्होसार]]के दौरान लाचुंग में गुम्पा नृत्य]]
सिक्किम के नागरिक भारत के सभी मुख्य हिन्दू त्योहारों जैसे [[दीपावली]] और [[दशहरा]], मनाते हैं। बौद्ध धर्म के [[ल्होसार]], [[लूसोंग]], [[सागा दावा]], [[ल्हाबाब ड्युचेन]], [[ड्रुपका टेशी]] और [[भूमचू]] वे त्योहार हैं जो मनाये जाते हैं। लोसर - तिब्बती नव वर्ष लोसर, जो कि मध्य दिसंबर में आता है, के दौरान अधिकतर सरकारी कार्यालय एवं पर्यटक केन्द्र हफ़्ते भर के लिये बंद रहते हैं। गैर-मौसमी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिये हाल ही में [[बड़ा दिन। बड़े दिन]] को गंगटोक में प्रसारित किया जा रहा है।<ref name="Culture">{{cite web| url=http://sikkimipr.org/GENERAL/CULTURE/LUCKY_SIGNS.htm |title= Culture and Festivals of Sikkim |accessdate=2006-10-12 अक्टूबर 2006 |date=[[2005-09-29 सितंबर 2005]] |publisher=Department of Information and Public Relations, Government of Sikkim}}</ref>
 
[[पाश्चात्य संगीत|पाश्चात्य]] [[रॉक संगीत]] यहाँ प्रायः घरों एवं भोजनालयों में, गैर-शहरी इलाक़ों में भी सुनाई दे जाता है। [[हिन्दी संगीत]] ने भी लोगों में अपनी जगह बनाई है। विशुद्ध नेपाली रॉक संगीत, तथा पाश्चात्य संगीत पर नेपाली काव्य भी काफ़ी प्रचलित हैं। [[फुटबॉल]] एवं [[क्रिकेट]] यहाँ के सबसे लोकप्रिय खेल हैं।
[[Image:Sikkim Assembly Gangtok.jpg|right|thumb|300px|सिक्किम की विधान सभा ([[गंतोक]] में स्थित)]]
[[चित्र:Whitehall.jpg|thumb|240px|The White Hall complex houses the residences of the Chief Minister and Governor of Sikkim.]]
भारत के [[भारत के राज्य तथा प्रदेश|अन्य राज्यों]] के समान, [[भारत सरकार|केन्द्रिय सरकार]] द्वारा निर्वाचित [[राज्यपाल]] राज्य शासन का प्रमुख है। उसका निर्वाचन मुख्यतः औपचारिक ही होता है, तथा उसका मुख्य काम [[मुख्यमंत्री]] के शपथ-ग्रहण की अध्यक्षता ही होता है। मुख्यमंत्री, जिसके पास वास्तविक प्रशासनिक अधिकार होते हैं, अधिकतर राज्य चुनाव में बहुमत जीतने वाले दल अथवा गठबंधन का प्रमुख होता है। राज्यपाल मुख्यमंत्री के परामर्श पर मंत्रीमण्डल? नियुक्त करता है। अधिकतर अन्य राज्यों के समान सिक्किम में भी [[एकसभायी]] (एकसदनी? unicameral) सदन वाली विधान सभा ही है। सिक्किम को भारत की द्विसदनी विधानसभा के दोनों सदनों, [[राज्य सभा]] तथा [[लोक सभा]] में एक-एक स्थान प्राप्त है। राज्य में कुल ३२ विधानसभा सीटें? हैं जिनमें से एक [[बौद्ध संघ]] के लिए आरक्षित है। [[सिक्किम उच्च न्यायालय]] देश का सबसे छोटा उच्च न्यायालय है।<ref name="High court">{{cite news |first = |last = |author = |coauthors = |url = http://pib.nic.in/archieve/lreleng/lyr2003/roct2003/30102003/r301020036.html|title = Judge strengths in High Courts increased|publisher = Ministry of Law & Justice|date = [[2003-10-30 अक्टूबर 2003]]|accessdate = 2006-10-12 अक्टूबर 2006}}</ref>
{| class="toccolours" align="right" style="margin:1em" padding="0.5em"
|+ State symbols<ref name="Sikkim Info"/>
दक्षिणी नगरीय क्षेत्रों में अंग्रेजी, नेपाली तथा हिन्दी के दैनिक पत्र हैं। नेपाली समाचार-पत्र स्थानीय रूप से ही छपते हैं परन्तु हिन्दी तथा अंग्रेजी के पत्र [[सिलिगुड़ी]] में। सिक्किम में नेपाली भाषा में प्रकाशित समाचार पत्रों की मांग विगत दिनों में बढ़ी हैं। '''समय दैनिक''', '''हाम्रो प्रजाशक्ति''', '''हिमाली बेला''' और '''सांगीला टाइमस्''' इत्यादि नेपाली समाचार पत्र गंगटोक से प्रकाशित होते हैं जिनमें '''हाम्रो प्रजाशक्ति''' राज्य का सबसे बड़ा और लोकप्रिय समाचार पत्र है। अंग्रेजी समाचार पत्रों में '''सिक्किम नाओ''' और '''सिक्किम एक्सप्रेस''', '''हिमालयन मिरर''' स्थानीय रूप से छपते हैं तथा ''[[द स्टेट्समैन]]'' तथा ''[[द टेलेग्राफ़]]'' [[सिलिगुड़ी]] में छापे जाते हैं जबकि ''[[द हिन्दू]]'' तथा ''[[द टाइम्स ऑफ़ इन्डिया]]'' [[कलकत्ता]] में छपने के एक दिन पश्चात् [[गंगटोक]], [[जोरेथांग]], [[मेल्ली]] तथा [[ग्याल्शिंग]] पहुँच जाते हैं। ''सिक्किम हेराल्ड'' सरकार का आधिकारिक साप्ताहिक प्रकाशन है। [http://www.haalkhabar.com हाल-खबर] सिक्किम का एकमात्र अंतर्राष्ट्रिय समाचार का मानकीकृत प्रवेशद्वार है। सिक्किम सें 2007-में नेपाली साहित्य का ऑनलाइन पत्रिका [http://www.tistarangit.com टिस्टारंगीत] शुरु हुई है जिस का संचालन ''साहित्य सिर्जना सहकारी समिति लिमिटेड]'' करती है।
 
[[अन्तर्जाल]] सुविधाएँ जिला मुख्यालयों में तो उपलब्ध हैं परन्तु ब्रॉडबैंड सम्पर्क उपलब्ध नहीं है तथा ग्रामीण क्षेत्रों में अभी [[अन्तर्जाल]] सुविधा उपलब्ध नहीं है। थाली विद्युत-ग्राहकों (Dish antennae) द्वारा अधिकतर घरों में उपग्रह दूरदर्शन सरणि (satellite television channels) उपलब्ध हैं। भारत में प्रसारित सरणियों के अतिरिक्त नेपाली भाषा के सरणि भी प्रसारित किये जाते हैं। [[सिक्किम केबल]], [[डिश टी० वी०]], [[दूरदर्शन]] तथा [[नयुम]] (Nayuma) मुख्य सेवा प्रदाता हैं। स्थानीय कोष्ठात्मक दूरभाष सेवा प्रदाताओं (cellular phone service provider) की अच्छी सुविधाएँ उपलब्ध हैं जिनमें भा०सं०नि०लि० की सुविधा राज्य-विस्तृत है परन्तु [[रिलायन्स]] इन्फ़ोकॉम तथा एयरटेल केवल नगरीय क्षेत्रों में है। राष्ट्रिय [[अखिल भारतीय आकाशवाणी]] राज्य का एकमात्र [[आकाशवाणी केन्द्र]] है।<ref name="Entertainment">{{cite web|url= http://www.sikkiminfo.net/entertainment.htm|title= Entertainment in Sikkim|accessdate= 2006-10-12 अक्टूबर 2006|publisher= Sikkiminfo.net}}</ref>
 
== शिक्षा ==
5,706

सम्पादन