"जेफेट": अवतरणों में अंतर

आकार में बदलाव नहीं आया ,  4 वर्ष पहले
 
इसी चीज को दूसरे तरह से देखें तो हम पाते हैं कि सैचुरेशन रीजन में ड्रेन धारा, गेट-सोर्स वोल्टेज के बदलने पर बहुत अधिक बदलती है (जबकि तथाकथित 'लिनियर रीजन' में गेट-सोर्स वोल्टेज उतना ही बदलने पर ड्रेन धारा अपेक्षाकृत कम बदलती है।)
[[Image:Common Source amplifier.png|center|thumb|550px450px|वोल्टेज डिवाइडर बायसिंग करके बना एक कॉमन-सोर्स जेफेट ऐम्प्लिफायर]]
 
==इन्हें भी देखें==