"आर्यभट" के अवतरणों में अंतर

13 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
छो (बॉट: date प्रारूप बदला।)
हालाँकि ये बात काफी हद तक निश्चित है कि वे किसी न किसी समय [[पटना|कुसुमपुरा]] उच्च शिक्षा के लिए गए थे और कुछ समय के लिए वहां रहे भी थे।<ref>{{cite book|last=Cooke|authorlink=Roger Cooke|title=|year=1997|chapter=The Mathematics of the Hindus|pages=204|quote=Aryabhata himself (one of at least two mathematicians bearing that name) lived in the late fifth and the early sixth centuries at [[Kusumapura]] ([[Pataliutra]], a village near the city of Patna) and wrote a book called ''Aryabhatiya''.}}</ref> [[भास्कर प्रथम|भास्कर I]] (६२९ ई.) ने कुसुमपुरा की पहचान पाटलिपुत्र (आधुनिक [[पटना]]) के रूप में की है। [[गुप्त साम्राज्य]] के अन्तिम दिनों में वे वहां रहा करते थे। यह वह समय था जिसे भारत के स्वर्णिम युग के रूप में जाना जाता है, [[विष्णुगुप्त]] के पूर्व [[बुद्धगुप्त]] और कुछ छोटे राजाओं के साम्राज्य के दौरान उत्तर पूर्व में [[हूण|हूणों]] का आक्रमण शुरू हो चुका था।
 
आर्यभट अपनी खगोलीय प्रणालियों के लिए सन्दर्भ के रूप में [[श्रीलंका]] का उपयोग करते थे और आर्यभटीय में अनेक अवसरों पर [[श्रीलंका]] का उल्लेख किया है। {{Fact|date=Aprilअप्रैल 2009}}
 
== कृतियाँ ==
24,239

सम्पादन