"लक्षण" के अवतरणों में अंतर

1,790 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
पण्डितलक्षणम्
छो (सच्चिदानंद (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:204:C009:8B08:C3B6:181E:830F:C4A9 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
(पण्डितलक्षणम्)
: ''ऊहापोहोऽर्थ विज्ञानं तत्त्वज्ञानं च धीगुणाः ॥
: शुश्रूषा, श्रवण, ग्रहण, धारण, चिंतन, उहापोह, अर्थविज्ञान, और तत्त्वज्ञान – ये बुद्धि के गुण हैं ।
 
; ज्ञान के लक्षण
: ''अक्रोधो वैराग्यो जितेन्द्रियश्च क्षमा दया सर्वजनप्रियश्च।
: ''निर्लोभो मदभयशोकरहितो ज्ञानस्य एतत् दश लक्षणानि॥
: अक्रोध, वैराग्य, जितेन्द्रिय, क्षमा, दया, सर्वजनप्रिय, निर्लोभ, मदभयशोकरहित - ये दस ज्ञान के लक्षण हैं।
 
; धर्म के लक्षण
: ''धृति क्षमा दमोस्तेयं, शौचं इन्द्रियनिग्रहः।
: ''धीर्विद्या सत्यं अक्रोधो, दशकं धर्म लक्षणम्॥
: धर्म के दस लक्षण हैं - धैर्य , क्षमा , संयम , चोरी न करना , स्वच्छता , इन्द्रियों को वश मे रखना , बुद्धि , विद्या , सत्य और क्रोध न करना ( अक्रोध )
 
; धूर्त के लक्षण
: ''शुश्रूषा श्रवणं चैव ग्रहणं धारणां तथा ।
: ''ऊहापोहोऽर्थ विज्ञानं तत्त्वज्ञानं च धीगुणाः ॥
: शुश्रूषा, श्रवण, ग्रहण, धारण, चिंतन, उहापोह, अर्थविज्ञान, और तत्त्वज्ञान – ये बुद्धि के गुण हैं ।
 
 
==इन्हें भी देखें==