"अफ़्रीका की अर्थव्यवस्था": अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश नहीं है
No edit summary
No edit summary
|}
 
प्राकृतिक संसाधनों से परिपूर्ण होते ही भी अफ्रीका विश्व का सबसे दरिद्र और सबसे अविकसित भू भाग है। अफ्रीका का इतिहास भयंकर महामारियों जैसे मलेरिया , एच. आई. वी, सैनिक विद्रोह , जातीय हिंसा आदि घटनाओं से भरा हुआ है जो इसके वर्तमान स्थिति के लिए जिम्मेदार है। <ref> Richard Sandbrook, The Politics of Africa's Economic Stagnation, Cambridge University Press, Cambridge, 1985 passim </ref> संयुक्त राष्ट्र द्वारा सन २००३ में प्रकाशित मानव विकास रिपोर्ट में अफ्रीका के २५ देशो ने सूची में सबसे निचला स्थान प्राप्त किया है। <ref>[http://hdr.undp.org/], [[Unitedसंयुक्त Nationsराष्ट्र]]</ref>
 
सन १९९५ से २००५ तक अफ्रीका की अर्थव्यवस्था में सुधार आया और वर्ष २००५ के लिए यह औसतन ५ प्रतिशत रही। कुछ देश जैसे [[अंगोला]], [[सूडान]] और [[ईक्वीटोरियल गिनी]] जिन्होंने अपने पेट्रोलियम भंडारों अथवा पेट्रोलियम वितरण प्रणाली का विस्तार किया ने औसत से अधिक विकास दर दर्ज की। विगत कुछ वर्षों में [[चीन]] ने अफ्रीकी देशो में काफी निवेश किया है। सन २००७ में चीनी उपक्रमों ने अफ्रीकी देशो में कुल १ बिलियन डॉलर का निवेश किया। <ref>[http://www.migrationinformation.org/Feature/display.cfm?id=690 China and Africa: Stronger Economic Ties Mean More Migration], By Malia Politzer, ''Migration Information Source'', August 2008 </ref>
5,133

सम्पादन