"मिहिरकुल" के अवतरणों में अंतर

62 बैट्स् नीकाले गए ,  3 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (120.57.8.55 (Talk) के संपादनों को हटाकर Sanjeev bot के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
No edit summary
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
{{Dead end|date=जनवरी 2017}}
 
==शिव भक्त गुर्जर सम्राट मिहिरकुल हूण==
 
पांचवी शताब्दी के मध्य में, ४५० इसवी के लगभग, हूण गांधार इलाके के शासक थे, जब उन्होंने वहा से सारे सिन्धु घाटी प्रदेश को जीत लिया| कुछ समय बाद ही उन्होंने मारवाड और पश्चिमी राजस्थान के इलाके भी जीत लिए| ४९५ इसवी के लगभग हूणों ने तोरमाण के नेतृत्व में गुप्तो से पूर्वी मालवा छीन लिया| एरण, सागर जिले में वराह मूर्ति पर मिले तोरमाण के अभिलेख से इस बात की पुष्टि होती हैं| जैन ग्रन्थ कुवयमाल के अनुसार तोरमाण चंद्रभागा नदी के किनारे स्थित पवैय्या नगरी से भारत पर शासन करता था। यह पवैय्या नगरी ग्वालियर के पास स्थित थी|
बेनामी उपयोगकर्ता