"स्तॅपी" के अवतरणों में अंतर

26 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
 
== इतिहास ==
स्तॅपी एक विशाल मैदानी क्षेत्र है जिसकी वजह से प्राचीनकाल में लोग और व्यापार यूरेशिया के एक कोने से दूरे कोने तक जा सका। प्रसिद्ध [[रेशम मार्ग|सिल्क रूट]] इसी स्तॅपी से होकर गुज़रता था और इसपर [[चीन]], [[उत्तर भारत]], [[मध्य एशिया]], [[मध्य पूर्व]], [[तुर्की]] और [[यूरोप]] के बीच माल और लोग आया जाया करते थे और सांस्कृतिक तत्व भी फैले। [[अनुवांशिकी]] दृष्टिकोण से उत्तर भारत में बहुत से पुरुषों का [[पितृवंश समूह आर१ए]] है। ठीक यही मध्य एशिया, रूस, [[पोलैंड]] इत्यादि में पाया जाता है और माना गया है कि यह स्तॅपी के ज़रिये ही फैला।<ref name="ref20racel">{{cite web | title=The genetic strand: exploring a family history through DNA | author=Edward Ball | publisher=Simon and Schuster, 2007 | isbn=9780743266581 | url=http://books.google.com/books?id=cj8_GbJhY6sC}}</ref> भारत में आये बहुत से हमलावर भी इसी क्षेत्र से आये थे। [[मुग़ल सलतनत]] शुरू करने वाले [[सम्राट बाबर]] [[उज़बेकिस्तान]] के स्तॅपी क्षेत्र से आये. शक (स्किथियन) लोग, जिनमें भारतीय [[सम्राट कनिष्क]] भी एक थे, इसी क्षेत्र से उत्पन्न हुए और बहुत से भारतीयों का कुछ वंश इसी जाति से आया है।<ref name="ref28bexeb">{{cite web | title=Land and people of Indian states and union territories | author=S. C. Bhatt, Gopal K. Bhargava | publisher=Gyan Publishing House, 2005 | isbn=9788178353937 | url=http://books.google.com/books?id=tk1ggdyrGdMC | quote=''... the Shakas (or Scythians), from the steppes of Central Asia, who settled in western India ...''}}</ref> भारत का प्रभाव भी जातिय, धार्मिक और सांस्कृतिक दृष्टि से इस क्षेत्र पर बहुत गहरा रहा। [[बौद्ध धर्म]] का फैलाव इसका एक बहुत बड़ा उदाहरण था और भारतीय चिह्न (जैसे कि स्वस्तिक, माथे पर बिंदियाँ, इत्यादि) यहाँ के कई पुरातात्त्विक स्थलों पर मिले हैं।<ref name="ref38vuvoh">{{cite web | title=History of Humanity: From the seventh century B.C. to the seventh century A.D. | author=Siegfried J. de Laet, International Commission for a History of the Scientific and Cultural Development of Mankind | publisher=युनेस्को, 1996 | isbn=9789231028120 | url=http://books.google.com/books?id=WGUz01yBumEC | quote=''... In Central Asia the introduction of Indian motifs, and even religious symbols like the trident of Siva with three faces, indicates the importance of southern influences ...''}}</ref>
 
== इन्हें भी देखें ==
931

सम्पादन