"अस्थि" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  1 वर्ष पहले
2409:4052:79D:4CB8:689F:82F8:7E4C:EADC (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 4075279 को पूर्ववत किया
(→‎ये भी देंखे: व्याकरण में सुधार)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
(2409:4052:79D:4CB8:689F:82F8:7E4C:EADC (वार्ता) द्वारा किए बदलाव 4075279 को पूर्ववत किया)
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
'''अस्थियाँ''' या हड्डियाँ रीढ़धारी जीवों का वह कठोर अंग है जो अन्तःकंकाल का निर्माण करती हैं। यह [[शरीर]] को चलाने (स्थानांतरित करने), सहारा देने और शरीर के विभिन्न अंगों की रक्षा करने मे सहायता करती हैं साथ ही यह लाल और सफेद रक्त कोशिकाओं का निर्माण करने और खनिज लवणों का भंडारण का कार्य भी करती हैं। अस्थियाँ विभिन्न आकार और आकृति की होने के साथ वजन मे हल्की पर मजबूत होती हैं। इनकी आंतरिक और बाहरी संरचना जटिल होती है। अस्थि निर्माण का कार्य करने वाले प्रमुख ऊतकों मे से एक उतक को खनिजीय अस्थि ऊतक, या सिर्फ अस्थि [[ऊतक]] भी कहते हैं और यह [[अस्थि]] को कठोरता और मधुकोशीय त्रिआयामी आंतरिक संरचना प्रदान करते हैं। अन्य प्रकार के अस्थि ऊतकों मे मज्जा, अन्तर्स्थिकला और पेरिओस्टियम, तंत्रिकायें, रक्त वाहिकायें और उपास्थि शामिल हैं। वयस्क मानव के शरीर में 206 हड्डियों होती हैं वहीं एक शिशु का शरीर २७० अस्थियों से मिल कर बनता है।
 
== ये भी देखेंदेंखे ==
* [[अस्थिचिकित्सा]]
* [[अस्थि-भंगुरता]]