"नन्द कुमार सिंह चौहान": अवतरणों में अंतर

आकार में बदलाव नहीं आया ,  3 वर्ष पहले
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब संपादन
 
==राजनैतिक जीवन==
सन् ''1978-80'' व ''1983-87'' तक '''शाहपुर'' जो कि [[बुरहानपुर जिला]] मे स्थित है से [[नगर पालिका]] के अध्यक्ष के तौर पर [[भाजपा]] से विजय होकर '''नगरअध्यक्ष''' रहे थे. इसके बाद सन् ''1985-96'' तक लगातार 2बार '''भाजपा''' से विजयी हो कर '''मध्यप्रदेश विधानसभा'' के [[बुरहानपुर]] क्षेत्र से विधायक रहे थे. सन् ''1996'' को '''11वें लोकसभा चुनाव''' मे '''भाजपा''' ने उन्हें [[खंडवा]] क्षेत्र से सांसद उम्मीदवार बनाया था जिसमे वें विजयी हुए थें लेकिन उनका कार्यकाल ''1996-97'' तक ही रहा क्योकी [[अटल बिहारी वाजपेयी]]सरकार ने अपना त्यागपत्र दे कर सरकार निरस्त कर दी थी. जिसके बाद सन् ''1998'' में उपचुनाव में '''12वीं लोकसभा चुनाव''' मे वह दुसरी बार '''खंडवा क्षेत्र''' से विजयी हुए थे. यह कार्यकाल भी 1998-99 तक ही रहा जिसका मुख्य कारण '''वाजपेयी सरकार''' के समर्थक पार्टी का समर्थन वापस लेना था.सन् ''1999'' में '''13वीं लोकसभा उपचुनाव''' में फिर से '''भाजपा''' ने '''खंडवा क्षेत्र''' से इन्हें उम्मीदवार बनाया जिसमें भी वें 3री बार विजयी हुए. जिसने इनका कार्यकाल '''1999-2004''' तक 5वर्ष पूर्ण चला. इसके बाद सन् ''2004'' मे '''14वीं लोकसभा चुनाव''' मे वह चौथी बार फिर से '''खंडवा क्षेत्र''' से सांसद का चुनाव जीत कर विजयी हुए परंतु वह विपक्ष मे बैठे.क्योकिं केन्द्र मे [[मनमोहन सिंह]] की [[कांग्रेस]] सरकार बन चुकी थी. फिर सन् ''2009'' के '''15वी लोकसभा चुनाव''' मे उन्हें फिर से '''खंडवा क्षेत्र''' से '''भाजपा''' ने उम्मीदवार बनाया परंतु इस बार वें '''कांग्रेस''' प्रत्याशी '''अरूण यादव''' से चुनाव हार गए थे परंतु उन्हें पार्टी ने [[मध्यप्रदेश]]राज्य का '''भाजपा पार्टी''' का '''प्रदेशअध्यक्ष''' बनाया गया था परंतु सन् ''2013'' के '''मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव''' मे उन्हें हटाकर [[नरेंद्र सिंह तोमर]] को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया था. व उन्हें '''16वीं लोकसभा चुनाव''' में '''भाजपा''' ने उन्हें पुन: '''खंडवा क्षेत्र''' से उम्मीदवार बनाया जिसमें वे '''मोदी लहर''' मे [[नरेन्द्र मोदी]] के नेत्तव हुए चुनाव मे विजयी हुए. व उन्हें पुन: '''मध्यप्रदेश भाजपा''' का प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया था व सन् 20172018 मे उन्होने अपना त्यागपत्र '''भाजपा प्रदेशअध्यक्ष''' पद से दे दिया ताकि वह अपने संसदीय क्षेत्र मे विकासकार्य कर सकें.
 
==बाहरी कड़ियाँ==
गुमनाम सदस्य