"भीखाजी कामा" के अवतरणों में अंतर

133 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
Mene prasth me 1 line jod di.
छो (clean up AWB के साथ)
(Mene prasth me 1 line jod di.)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
धनी परिवार में जन्म लेने के बावजूद इस साहसी महिला ने आदर्श और दृढ़ संकल्प के बल पर निरापद तथा सुखी जीवनवाले वातावरण को तिलांजलि दे दी और शक्ति के चरमोत्कर्ष पर पहुँचे साम्राज्य के विरुद्ध क्रांतिकारी कार्यों से उपजे खतरों तथा कठिनाइयों का सामना किया। श्रीमती कामा का बहुत बड़ा योगदान साम्राज्यवाद के विरुद्ध विश्व जनमत जाग्रत करना तथा विदेशी शासन से मुक्ति के लिए भारत की इच्छा को दावे के साथ प्रस्तुत करना था। भारत की स्वाधीनता के लिए लड़ते हुए उन्होंने लंबी अवधि तक निर्वासित जीवन बिताया था।
 
तथ्यों के मुताबिक भीकाजी हालांकि अहिंसा में विश्वास रखती थीं लेकिन उन्होंने अन्यायपूर्ण हिंसा के विरोध का आह्वान भी किया था। उन्होंने [[स्वराज]] के लिए आवाज उठाई और नारा दिया− ''आगे बढ़ो, हम भारत के लिए हैं और भारत भारतीयों के लिए है।''हमैं आशा हे कै यह Chapter आप को पसंद आया हौगा ।
Thanks
Thanks
Thanks......
 
== जीवन परिचय ==
बेनामी उपयोगकर्ता