"कौमोदकी" के अवतरणों में अंतर

27 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
{{काम जारी}}
[[image:Vishnu Kumartuli Park Sarbojanin Arnab Dutta 2010.JPG|right|thumb|200px|विष्णु, कौमोदकी, सुदर्शन एवं पाञ्चजन्य के साथ, आशीर्वाद मुद्रा में]]
'''कौमोदकी''' श्री [[विष्णु]] की [[गदा]] का नाम है। [[आलवार सन्त|आलवार सन्तों]] की परम्परा में भूतत्तालवार को कौमोदकी का [[अवतार]] बताया गया है। चित्रों में विष्णु को दाहिने हाथ में गदा धारण करते हुए दिखाया जाता है। वहीं कुछ [[शिल्प|शिल्पों]] में कौमोदकी '''गदानारी''' या '''गदादेवी''' के रूप में विष्णु के बराबर खड़ा दिखाया जाता है। श्री [[कृष्ण]] को भी विराट रूप में कौमोदकी धारण करते हुए दिखाया गया है। कभी-कभी इसे [[मत्स्य]], [[कूर्म अवतार|कुर्म]], [[वराह]] एवं [[नरसिंह]] के हाथ में भी दिखाया जाता है। महाभारत के अनुसार वरुण ने श्री कृष्ण को कौमोदकी प्रदान की थी।
344

सम्पादन