"मीना कुमारी" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
==फिल्म में==
 
मीना कुमारी हमेशा बड़े पैमाने पर फिल्म निर्माताओं के बीच रुचि का विषय रही हैं। 2004 में, उनकी फिल्म [[साहिब बीबी और गुलाम]] का एक आधुनिक रूपांतर प्रीतीश नंदी कम्युनिकेशंस द्वारा किया जाना था, जिसमें [[ऐश्वर्या राय]] और बाद में [[प्रियंका चोपड़ा]] को उनकी छोटी बहू की भूमिका को चित्रित करना था। हालांकि, फिल्म को निर्देशक ऋतुपॉर्नो घोष द्वारा बाद में इसे एक धारावाहिक के रूप में बनाया गया, जिसमें अभिनेत्री रवीना टंडन ने इस भूमिका को निभाया।
 
2015 में, यह बताया गया कि [[तिग्मांशु धूलिया]] को हिंदी सिनेमा की ट्रेजेडी क्वीन पर एक फिल्म बनानी थी, जो विनोद मेहता की किताब "मीना कुमारी - द क्लासिक बायोग्राफी" का स्क्रीन रूपांतरण होना था। अभिनेत्री [[कंगना रनौत]] को कुमारी को चित्रित करने के लिए संपर्क किया गया था, लेकिन प्रामाणिक तथ्यों की कमी और मीना कुमारी के सौतेले बेटे ताजदार अमरोही के कड़े विरोध के बाद फिल्म को फिर से रोक दिया गया था।
 
2017 में, निर्देशक करण राजदान ने भी उन पर एक आधिकारिक बायोपिक निर्देशित करने का फैसला किया। इसके लिए, उन्होंने [[माधुरी दीक्षित]] और [[विद्या बालन]] से फ़िल्मी पर्दे पर मीना कुमारी की भूमिका निभाने के लिए संपर्क किया, लेकिन कई कारणों के कारण, दोनों ने इस प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया। बाद में उन्होंने अभिनेत्री [[सनीसन्नी लियोनीलियोन]] की ओर रुख किया, जिन्होंने इस किरदार में बहुत दिलचस्पी दिखाई। [[ऋचा चड्ढा]], [[जया प्रदा]] और जान्हवी कपूर सहित कई अन्य अभिनेत्रियों ने भी शानदार आइकन की भूमिका निभाने की इच्छा व्यक्त की।
 
2018 में, निर्माता और पूर्व बाल कलाकार कुट्टी पद्मिनी ने गायक [[मोहम्मद रफ़ी]] और अभिनेता-निर्देशक [[जे पी चंद्रबाबू]] के साथ एक वेब श्रृंखला के रूप में मीना कुमारी पर एक बायोपिक बनाने की घोषणा की। पद्मिनी ने मीना कुमारी के साथ फिल्म [[दिल एक मंदिर]] में काम किया है और इस बायोपिक के साथ दिवंगत अभिनेत्री को सम्मानित करना चाहती हैं।
95

सम्पादन