"विद्युतचुंबकीय वर्णक्रम" के अवतरणों में अंतर

वर्णक्रम को अनंत कहते है
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(वर्णक्रम को अनंत कहते है)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
'''विद्युतचुंबकीय वर्णक्रम''' (electromagnetic spectrum) में उन सारी आवृत्तियों के विकिरण आते हैं जो सम्भव हैं। किसी वस्तु का विद्युतचुंबकीय वर्णक्रम, उस वस्तु से विद्युत चुम्बकीय विकिरणों का अभिलक्षणिक वितरण या प्रायः केवल वर्णक्रम होता है।
 
विद्युतचुंबकीय वर्णक्रम निम्न आवृत्तियों, जो कि नूतन रेडियो में प्रयोग होतीं हैं (तरंग दैर्घ्य के दीर्घ सिरे पर), से लेकर [[गामा विकिरण]] तक (लघु सिरे तक) होता है, जो कि सहस्रों किलोमीटर की तरंगदैर्घ्य से लेकर एक [[अणु]] के नाप के एक अंश के बराबर तक की सारी आवृत्तियों को लिये होता है। हमारे ब्रह्माण्ड में लघु तरंगदैर्घ्य सीमित है प्लैंक दूरी के आसपास तक; और दीर्घ तरंग दैर्घ्य सीमित है, ब्रह्माण्ड के आकार तक। वैसे वर्णक्रम को असीमित एवं अविरामअनन्त ही कहते हैं।
 
== परिचय ==
2

सम्पादन