"स्कन्दगुप्त" के अवतरणों में अंतर

138 बैट्स् जोड़े गए ,  9 माह पहले
वर्तनी की अशुद्धियों का शुद्धिकरण.
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
(वर्तनी की अशुद्धियों का शुद्धिकरण.)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
{{गुप्त साम्राज्य ज्ञानसन्दूक}}
[[चित्र:Skanda1b.jpg|right|thumb|300px|स्कन्दगुप्तकालीन मुद्रा जिस पर स्कन्दगुप्त का चित्र अंकित है।|कड़ी=Special:FilePath/Skanda1b.jpg]]
'''स्कन्दगुप्त''' प्राचीन [[भारत]] में तीसरी से पाँचवीं सदी तक शासन करने वाले [[गुप्त राजवंश]] के आठवें राजा थे। इनकी राजधानी [[पाटलिपुत्र]] थी जो वर्तमान समय में [[पटना]] के रूप में [[बिहार]] की राजधानी है।
 
 
== धर्म ==
स्कन्दगुप्त वेस्नोधर्मावलम्बिस्वयं था<nowiki>[[वैष्णव]]</nowiki> थे परन्तु अपने पुर्वजोपूर्वजों किही भातीकी उसनेभांति उन्होंने भी धार्मिकअन्य झेत्रसम्प्रदायों उदारतातथाके प्रति उदारता तथा सहिविस्नुतासहिष्णुता किकी नीति का पालन कियाकिया। वहउन्होंने जॅनजैन तिर्थकरोतीर्थंकरों किकी पाचपाँच पासानपाषाण प्रतिमाओप्रतिमाओं का निर्माननिर्माण करवाया था औरतथा वह सुर्यसूर्य मन्दिर में दीपकदीप जलानेप्रज्जवलन के लियेहेतु अत्यधिक धनराशि दान में दी थी।
धन दान में दिय था।
 
== साहित्य में स्कंदगुप्त ==
बेनामी उपयोगकर्ता