"हरियाणा" के अवतरणों में अंतर

9 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
2402:3A80:104B:2853:9182:22F9:EA0A:3B2A (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:205:329F:17E5:0:0:47C:48AD के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2402:3A80:104B:2853:9182:22F9:EA0A:3B2A (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:205:329F:17E5:0:0:47C:48AD के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न SWViewer [1.3]
 
=== प्राचीन इतिहास ===
सिंधु घाटी जितनी पुरानी कई सभ्यताओं के अवशेष सरस्वती नदी के किनारे पाए गए हैं। जिनमे Great Naurangabadनौरंगाबाद और मिट्टाथल भिवानी में, कुणाल, फतेहाबाद मे, अग्रोहा और राखीगढी़ हिसार में, रूखी रोहतक में और बनवाली Fatehabad जिले में प्रमुख है। प्राचीन वैदिक सभ्यता भी सरस्वती नदी के तट के आस पास फली फूली। ऋग्वेद के मंत्रों की रचना भी यहीं हुई है।
 
=== ग्रंथों में वर्णन ===