"तौरात" के अवतरणों में अंतर

644 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
({{छोटी भूमिका}} जोड़े, {{श्रेणीहीन}} जोड़े और {{[[साँचा:स्रोतही...)
[[चित्र:Köln-Tora-und-Innenansicht-Synagoge-Glockengasse-040.JPG|कड़ी=https://hi.wikipedia.org/wiki/चित्र:Köln-Tora-und-Innenansicht-Synagoge-Glockengasse-040.JPG|अंगूठाकार|तौरात]]
{{छोटी भूमिका|date=जनवरी 2016}}
'''तौरात''' ([[इब्रानी भाषा|इब्रानी]]: תּוֹרָה, "आदेश", "शिक्षण" या "क़ानून") [[यहूदी]] धर्म की मूल अवधारणाओं की शिक्षा देने वाला का धार्मिक ग्रन्थ है, यह बाकी इब्राहीमी धर्मों में भी अहम है। तौरात सबसे पहली आसमानी किताब है जिस में अल्लाह ने अपने पैग़म्बर हज़रत [[मूसा]] को जीवनयापण और उनकी कौम (बनी इस्राईल)
{{स्रोतहीन|date=जनवरी 2016}}
की ओर अपने आदेश , अनुदेश आदि भेजे ताकि वो सीधी राह पर आ सकें किन्तुलेकिन उन्हों नेउन्होंने इसका पूर्णत:पूरी तरह से परिपालन न किया और अपने-आप इस में परिवर्तन कर दिये।अबदिये। [[इस्लाम]] और [[ईसाइयत|ईसाईयत]] में अब ये ग्रन्थ विलुप्त मानी जाती है।
तौरात सर्वप्रथम आसमानी किताब है जिस में अल्लाह ने अपने प्रिय धर्मदूत हज़रत मूसा को जीवनयापण और उनकी कौम ( बनी इस्राईल)
की ओर अपने आदेश , अनुदेश आदि भेजे ताकि वो सीधी राह पर आ सकें किन्तु उन्हों ने इसका पूर्णत: परिपालन न किया और अपने-आप इस में परिवर्तन कर दिये।अब ये ग्रन्थ विलुप्त मानी जाती है।
 
{{यहूदी-धर्म-आधार}}
{{श्रेणीहीन|date=जनवरी 2016}}
45

सम्पादन