मुख्य मेनू खोलें

बदलाव

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  5 माह पहले
सूचना प्रौद्योगिकी ने पूरी धरती को एक [[गाँव]] बना दिया है। इसने विश्व की विभिन्न अर्थव्यवस्थाओं को जोड़कर एक वैश्विक अर्थव्यवस्था को जन्म दिया है। यह नवीन अर्थव्यवस्था अधिकाधिक रूप से सूचना के रचनात्मक व्यवस्था व वितरण पर निर्भर है। इसके कारण व्यापार और वाणिज्य में सूचना का महत्व अत्यधिक बढ गया है। इसीलिए इस अर्थव्यवस्था को '''[[सूचना अर्थव्यवस्था]]''' (Information Economy) या '''[[ज्ञान अर्थव्यवस्था]]''' (Knowledge Economy) भी कहने लगे हैं। वस्तुओं के उत्पादन (manufacturing) पर आधारित परम्परागत अर्थव्यवस्था कमजोर पड़ती जा रही है और सूचना पर आधारित [[सेवा अर्थव्यवस्था]] (service economy) निरन्तर आगे बढती जा रही है।
 
सूचना क्रान्ति से समाज के सम्पूर्ण कार्यकलाप प्रभावित हुए हैं - [[शिक्षा]] (e-learning), [[स्वास्थ्य]] (e-health), [[व्यापार]] (e-commerce), [[प्रशासन]], [[सरकार]] (e-govermancegovernance), [[उद्योग]], [[अनुसंधान व विकास]], संगठन, प्रचार, [[धर्म]], आदि सब के सब क्षेत्रों में कायापलट हो गया है। आज का समाज सूचना समाज कहलाने लगा है।
 
== सूचना प्रौद्योगिकी का भविष्य ==
1

सम्पादन