"मेसोपोटामिया" के अवतरणों में अंतर

737 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
छो
Bahar Singh (Talk) के संपादनों को हटाकर हिंदुस्थान वासी के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (Bahar Singh (Talk) के संपादनों को हटाकर हिंदुस्थान वासी के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
{{इतिहास-आधार}}
[[चित्र:N-Mesopotamia and Syria english.svg|upright=1.45|thumb|right|मेसोपोटामिया के विस्तार को दर्शाता मानचित्र]]
'''मेसोपोटामिया''' का यूनानी अर्थ है "दो नदियों के बीच"। यह इलाका [[दजला नदी|दजला]] (टिगरिस) और [[फ़ुरात नदी|फ़ुरात]] (इयुफ़्रेटीस) नदियों के बीच के क्षेत्र में पड़ता है। इसमें आधुनिक [[इराक़]] बाबिल ज़िला, उत्तरपूर्वी [[सीरिया]], दक्षिणपूर्वी [[तुर्की]] तथा [[ईरान]] का क़ुज़ेस्तान प्रांत के क्षेत्र शामिल हैं। यह [[कांस्य युग|कांस्ययुगीन]] सभ्यता का उद्गम स्थल माना जाता है। यहाँ [[सुमेर]], [[अक्कदी सभ्यता]], [[बेबीलोन]] तथा [[असीरिया]] के साम्राज्य अलग-अलग समय में स्थापित हुए थे। [[हड़प्पा सभ्यता]] में मेसोपोटामिया को 'मेलुहा' कहा गया है। सुमेरिया की सभ्यता "
इस सभ्यता की खोज इंगलैड और फ्रांस ने की।
ईरानी शासक द्वारा निर्मित कराया गया शिलालेख 1850 ई0 में अंग्रेज पुराविद" रालिन्स "ने खोजा था ।शिलालेख में बेबीलोनिया और फारसी भाषा का मेल था जिसे रालिन्स ने पढा। इसी से मेसोपोटामिया सभ्यता का रहस्य पता चला।
 
==सन्दर्भ==
[[श्रेणी:सभ्यता]]
[[श्रेणी:इराक का भूगोल]]
"इतिहास "
"सभ्यता "