"हिमाचल प्रदेश" के अवतरणों में अंतर

23 बैट्स् जोड़े गए ,  8 माह पहले
छो
117.234.58.231 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:205:5083:BAB1:0:0:745:80B1 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (117.234.58.231 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:205:5083:BAB1:0:0:745:80B1 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
बिलासपुर रियासत को 1948 ई. में प्रदेश से अलग रखा गया था। उन दिनों इस क्षेत्र में भाखड़ा-बांध परियोजना का कार्य चलाने के कारण इसे प्रदेश में अलग रखा गया। एक जुलाई, 1954 ई. को कहलूर रियासत को प्रदेश में शामिल करके इसे बिलासपुर का नाम दिया गया। उस समय बिलासपुर तथा घुमारवीं नामक दो तहसीलें बनाई गईं। यह प्रदेश का पांचवां जिला बना। 1954 में जब ‘ग’ श्रेणी की [[रियासत]] बिलासपुर को इसमें मिलाया गया, तो इसका क्षेत्रफल बढ़कर 28,241 वर्ग कि.मी.हो गया।
* '''किन्नौर जिला की स्थापना'''
एक मई, 1960 को छठे जिला के रूप में किन्नौर का निर्माण किया गया। इस जिला में महासू जिला की चीनी तहसील तथा रामपुर तहसील को 14 गांव शामिल गए .गए। इसकी तीन तहसीलें कल्पा, निचार और पूह बनाई गईं।
* '''पंजाब का पुनर्गठन'''
वर्ष 1966 में पंजाब का पुनर्गठन किया गया तथा पंजाब व हरियाणा दो राज्य बना दिए गए। भाषा तथा तिहाड़ी क्षेत्र के पंजाब से लेकर हिमाचल प्रदेश में शामिल कर दिए गए। संजौली, भराड़ी, कुसुमपटी आदि क्षेत्र जो पहले पंजाब में थे तथा नालागढ़ आदि जो पंजाब में थे, उन्हें पुनः हिमाचल प्रदेश में शामिल कर दिया गया। सन 1966 में इसमें [[पंजाब (भारत)|पंजाब]] के पहाड़ी क्षेत्रों को मिलाकर इसका पुनर्गठन किया गया तो इसका क्षेत्रफल बढ़कर 55,673 वर्ग कि॰मी॰ हो गया।
* '''1972 ई. में पुनर्गठन'''
हिमाचल प्रदेश को पूर्ण [[राज्य]] का दर्जा 24जनवरी२५ 1971कोजनवरी १९७१ को मिला। 1 नवम्बर 1972 को कांगड़ा ज़िले के तीन ज़िले कांगड़ा, ऊना तथा हमीरपुर बनाए गए। महासू ज़िला के क्षेत्रों में से सोलन ज़िला बनाया गया।
 
== भूगोल ==