"चकोतरा" के अवतरणों में अंतर

1,829 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
सम्पादन सारांश रहित
छो (Aapke doctor (Talk) के संपादनों को हटाकर ArmouredCyborg के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
छो
यह कुछ ही दवाएँ हैं जिनपर चकोतरे का असर होता है। ऐसी और भी दवाएँ हैं जो इस सूची में शामिल नहीं।
 
==चकोतरा के फायदेफायद==
{{Unreferenced section|date=जुलाई 2019}}
* बुखार के लिए :- चकोतरा में प्राकृतिक रूप से किनीन होता है। जो मलेरिया बुखार में बहुत लाभदायक होता है। बुखार से छुटकारा पाने के लिए चकोतरा का नियमित रूप से सेवन करना चाहिए।
* गठिया के लिए :- गठिया जैसी समस्याओं के लिए चकोतरा फल बहुत अच्छा माना जाता है। इसमें प्रचुर मात्रा में कैल्शियम होता है। जो हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद व गठिया रोग को दूर करता है
* पांचन क्रिया ठीक रखने के लिए :- पांचनक्रिया को ठीक रखने चकोतरा अन्य फलो के मुकाबले हल्का होता है। जो आसानी से पेट में पच जाता है शरीर में पांचन किया को ठीक रखने में मदद करता है। जिससे पेट सम्बंधित अन्य विकार नहीं होता है।
<ref>www.logintohealth.com</ref>
* बालो के लिए :- बालो को मजबूत व सुंदर बनाने में चकोतरा बहुत उपयोगी होती है। इसमें अधिक मात्रा में विटामिन सी और कई एंटी-ऑक्सीडेंट होते है जो बालो की जड़ो को मजबूत बनाने में मदद करते है।
* कैंसर से बचाव :- कैंसर बहुत ही खतरनाक बीमारी होती है। चकोतरा में फ्लेवोनोइड भरपूर होते है। जो संक्रमण से लड़ने में सहायता करता है। कार्सिनोजन को शरीर से बाहर निकालता है। जो कैंसर रोग को पैदा करते है। विटामिन ए और फ्लेवोनोइड कैंसर से शरीर की रोकथाम करने में मदद करते है।
* नींद को बढ़ावा देना :- नींद पूरी नहीं होना अनिद्रा जैसे समस्या उत्पन्न होती है। इन समस्याओं दूर करने के लिए चकोतरा का रस रोजाना पीना चाहिए। चकोतरा में ट्राईपटफान मौजूद होता है। जो नींद में आराम दिलाता है और अनिद्रा की समस्या को दूर करता है।
 
== इन्हें भी देखें ==
28

सम्पादन