"इज़राइल" के अवतरणों में अंतर

139 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
vffh
(vffh)
| footnote2 = Includes all permanent residents in proper Israel, the Golan Heights and East Jerusalem. Also includes Israeli population in the [[West Bank]].
}}
[https://hindijankari2u.blogspot.com '''इज़राइल राष्ट्र''' ([[इब्रानी भाषा|इब्रानी]]:מְדִינַת יִשְׂרָאֵל , ''मेदिनत यिसरा'एल''; '''دَوْلَةْ إِسْرَائِيل''', ''दौलत इसरा'ईल'') दक्षिण पश्चिम [[एशिया]] में स्थित एक देश है। यह दक्षिणपूर्व [[भूमध्य सागर]] के पूर्वी छोर पर स्थित है। इसके उत्तर में [[लेबनॉन]], पूर्व में [[सीरिया]] और [[जॉर्डन]] तथा दक्षिण-पश्चिम में [[मिस्र]] है।]
 
[[https://hindijankari2u.blogspot.com मध्यपूर्व]] में स्थित यह देश विश्व राजनीति और इतिहास की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। इतिहास और प्राचीन ग्रंथों के अनुसार [[यहूदी|यहूदियों]] का मूल निवास रहे इस क्षेत्र का नाम [[ईसाइयत]], [[इस्लाम]] और [[यहूदी]] धर्मों में प्रमुखता से लिया जाता है। यहूदी, मध्यपूर्व और यूरोप के कई क्षेत्रों में फैल गए थे। उन्नीसवी सदी के अन्त में तथा फ़िर बीसवीं सदी के पूर्वार्ध में यूरोप में यहूदियों के ऊपर किए गए अत्याचार के कारण यूरोपीय (तथा अन्य) यहूदी अपने क्षेत्रों से भाग कर [[येरूशलम]] और इसके आसपास के क्षेत्रों में आने लगे। सन् 1948 में आधुनिक इसरायल राष्ट्र की स्थापना हुई।]
 
[[https://hindijankari2u.blogspot.com यरूशलम]] इसरायल की राजधानी है पर अन्य महत्वपूर्ण शहरों में [[तेल अवीव]] का नाम प्रमुखता से लिया जा सकता है। यहाँ की प्रमुख भाषा [[इब्रानी]] (हिब्रू) है, जो दाहिने से बाँए लिखी जाती है। यहाँ के निवासियों को ''इसरायली'' कहा जाता है।]
 
== नाम ==
[https://hindijankari2u.blogspot.com '''इसरायल''' शब्द का प्रयोग [[बाईबल]] और उससे पहले से होता रहा है। बाईबल के अनुसार ईश्वर के फ़रिश्ते के साथ युद्ध लड़ने के बाद [[जैकब]] का नाम ''इसरायल'' रखा गया था। इस शब्द का प्रयोग उसी समय (या पहले) से यहूदियों की भूमि के लिए किया जाता रहा है।]
 
==[https://hindijankari2u.blogspot.com भूगोल ]==
[[चित्र:Is-wb-gs-gh v3.png|right|thumb|350px|वेस्टबैंक, गाजा पट्टी तथा गोलन हाइट्स के साथ '''इजराइल''' का मानचित्र]]
इज़रायल दक्षिण पश्चिम एशिया का एक स्वतंत्र यहूदी राज्य है, जो 14 मई 1948 ई. को [[फिलिस्तीन|पैलेस्टाइन]] से ब्रिटिश सत्ता के समाप्त होने पर बना। यह राज्य [[रूम सागर]] के पूर्वी तट पर स्थित है। इसके उत्तर तथा उत्तर पूर्व में [[लेबनान]] एवं [[सीरिया]], पूर्व में [[जार्डन]], दक्षिण में [[अकाबा की खाड़ी]] तथा दक्षिण पश्चिम में [[मिस्र]] है (क्षेत्रफल 20,700 वर्ग किलोमीटर)। इसकी राजधानी [[तेल अवीब]] एवं [[हैफा]] इसके अन्य मुख्य नगर हैं। राजभाषा [[इब्रानी]] है।
तेल अवीव इज़रायल का प्रमुख उद्योगकेंद्र है जहाँ कपड़ा, काष्ठ, औषधि, पेय तथा प्लास्टिक आदि उद्योगों का विकास हुआ है। हैफा क्षेत्र में सीमेंट, मिट्टी का तेल, मशीन, रसायन, काँच एवं विद्युत्‌ वस्तुओं के कारखाने हैं। जेरूसलम हस्तशिल्प एवं मुद्रण उद्योग के लिए विख्यात है। नथन्या जिले में हीरा तराशने का काम होता है।
 
[https://hindijankari2u.blogspot.com हैफा तथा तेल अवीव रूम सागरतट के पत्तन (बंदरगाह) हैं। इलाथ अकाबा की खाड़ी का पत्तन है। मुख्य निर्यात सूखे एवं ताजे फल, हीरा, मोटरगाड़ी, कपड़ा, टायर एवं ट्यूब हैं। मुख्य आयात मशीन, अन्न, गाड़ियाँ, काठ एवं रासायनिक पदार्थ हैं।]
 
==[https://hindijankari2u.blogspot.com स्वतंत्रता और शुरुआती समय ]==
[[द्वितीय विश्वयुद्ध]] के बाद ब्रिटिश साम्राज्य ने स्वयं को एक विकत परिस्तिथि में पाया जहाँ उनका विवाद यहूदी समुदाय के साथ दो तरह की मानसिकता में बाँट चुका था। जहाँ एक तरफ हगना, इरगुन और लोही नाम के संगठन ब्रिटिश के खिलाफ हिंसात्मक विद्रोह कर रहे थे वहीँ हजारो यहूदी शरणार्थी इजराइल में शरण मांग रहे थे ! तभी सन १९४७ में ब्रिटिश साम्राज्य ने ऐसा उपाय निकलने की घोषणा की जिस से अरब और यहूदी दोनों संप्रदाय के लोग सहमत हो ! संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा फिलिस्तीन के विभाजन को (संयुक्त राष्ट्र संघ के १८१ घोषणा पत्र) नवम्बर २९,१९४७ मान्यता दे दी गयी, जिसके अंतर्गत राज्य का विभाजन दो राज्यों में होना था एक अरब और एक यहूदी ! जबकि जेरुसलेम को संयुक्त राष्ट्र द्वारा राज्य करने की बात कहीं गयी इस व्यवस्था में जेरुसलेम को " सर्पुर इस्पेक्ट्रुम "(curpus spectrum) कहा गया !
 
बेनामी उपयोगकर्ता