"अलंकार (साहित्य)" के अवतरणों में अंतर

3 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
# तो पर बारों उरबसी,सुन राधिके सुजान।<br/>तू मोहन के उरबसी, छबै उरबसी समान।
# कनक कनक ते सौ गुनी,मादकता अधिकाये।<br/>या खाये बौराये जग, बा खाये बौराये।
#काली घटा का घमंड घटाघटा।
 
== ३. [[श्लेष अलंकार]]<ref>{{Cite book}}</ref>==
बेनामी उपयोगकर्ता