"कालिदास" के अवतरणों में अंतर

10 बैट्स् नीकाले गए ,  10 माह पहले
छो
2405:204:1289:4968:F9D2:81A1:BD1C:3EBE (Talk) के संपादनों को हटाकर FR30799386 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (2405:204:1289:4968:F9D2:81A1:BD1C:3EBE (Talk) के संपादनों को हटाकर FR30799386 के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन प्रत्यापन्न उन्नत मोबाइल सम्पादन
'''[[कुमारसंभवम्]]''' उनके महाकाव्यों के नाम है। रघुवंशम् में सम्पूर्ण [[रघुवंश]] के राजाओं की गाथाएँ हैं, तो कुमारसंभवम् में [[शिव]]-[[पार्वती]] की प्रेमकथा और [[कार्तिकेय]] के जन्म की कहानी है।
 
'''[[रघुवंशम्]]''' में कालिदास ने रघुकुल के राजा दिलीपराजाओं का वर्णन किया है।
 
=== खण्डकाव्य ===