"कालिदास" के अवतरणों में अंतर

1,218 बैट्स् जोड़े गए ,  10 माह पहले
(It is correct)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
 
अर्थात् ''देवर्षि के द्वारा ऐसी (पार्वती के विवाह प्रस्ताव की) बात करने पर, पिता के समीप बैठी पार्वती ने सिर झुका कर हाथ में लिये कमल की पंखुड़ियों को गिनना शुरू कर दिया।''
 
 
=== कालिदास जी की रचनाओं की खास बातें ===
 
कालिदास जी अपनी रचनाओं में अलंकार युक्त, सरल और मधुर भाषा का इस्तेमाल करते थे।
अपनी रचनाओं में श्रंगार रस का भी बखूबी वर्णन किया है।कालिदास जी ने अपनी रचनाओं में ऋतुओं की भी व्याख्या की है जो कि सराहनीय योग्य है।
[https://www.gyankidhaara.in/kalidas-biography-in-hindi/ कालिदास जी] के साहित्य में संगीत प्रमुख अंग रहा। संगीत के माध्यम से कवि कालिदास ने अपनी रचनाओं में प्रकाश डाला।
कालिदास जी अपनी रचनाओं में आदर्शवादी परंपरा औऱ नैतिक मूल्यों का भी ध्यान रखते थे।
 
== आधुनिककाल में कालिदास ==
71

सम्पादन