"ग्रेफाइट" के अवतरणों में अंतर

49 बैट्स् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
छो
42.106.30.100 (Talk) के संपादनों को हटाकर Paras kumar paras के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(→‎नामकरण: Karban ka nano aprup grapin hota hai)
टैग: Reverted मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (42.106.30.100 (Talk) के संपादनों को हटाकर Paras kumar paras के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न Reverted
== रासायनिक संरचना ==
ग्रैफाइट [[अधातु]] होकर भी मुलायम और [[विद्युत]] चालक है। उसके अपवादात्मक गुण उसकी विशिष्ट संरचना के कारण होते हैं। इसमें [[कार्बन]] [[परमाणु]] विभिन्न परतों में व्यवस्थित होते हैं और प्रत्येक परमाणु उसी परत के तीन निकटवर्ती परमाणुओं से सहसंयोजक बंधन में होता है। प्रत्येक परमागु का चौथा संयोजी इलेक्ट्रॉन अलग परतों के मध्य उपस्थित होता है और यह गमन के लिए मुक्त होता है। यही मुक्त इलेक्ट्रॉन ग्रैफाइट को विद्युत का उत्तम चालक बनाते हैं। विभिन परतें एक-दूसरे पर सरक सकती हैं। यह ग्रैफाइट को मुलायम ठोस और उत्तम ठोस स्नेहक बनाते हैं।<ref>रसायनशास्त्र, भाग १, कक्षा १२, नई दिल्ली, पृष्ठ ५ </ref>
Karban se chota nano aprup graph in bhi hota hai
 
== उपयोग ==
378

सम्पादन