"मानवाधिकार" के अवतरणों में अंतर

138 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
(Ak case hai divorse ka)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
"मानवाधिकारों" को लेकर अक्सर विवाद बना रहता है। ये समझ पाना मुश्किल हो जाता है कि क्या वाकई में मानवाधिकारों की सार्थकता है। यह कितना दुर्भाग्यपू्‌र्ण है कि तमाम प्रादेशिक, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सरकारी और गैर सरकारी मानवाधिकार संगठनों के बावजूद मानवाधिकारों का परिदृश्य तमाम तरह की विसंगतियों और विद्रूपताओं से भरा पड़ा है। किसी भी इंसान की जिंदगी, आजादी, बराबरी और सम्मान का अधिकार है मानवाधिकार है। भारतीय संविधान इस अधिकार की न सिर्फ गारंटी देता है, बल्कि इसे तोड़ने वाले को अदालत सजा देती है।
 
*प्रतिव्यक्ति आय= किसी देश कि कुल आय मे से कुल जन्सन्ख्या से भग देने पर जो भागफल आता हे उसे उस देश का प्रतिव्यक्ति आय कह्ते हे|
== इन्हें भी देखें ==
* [[भारत में मानवाधिकार]]
* [[सार्वभौम मानवाधिकार घोषणा]]
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
बेनामी उपयोगकर्ता