"श्रीगंगानगर" के अवतरणों में अंतर

36 बैट्स् जोड़े गए ,  11 माह पहले
→‎विवरण: पुराना नाम जोड़ा गया है।
(→‎जलवायु: तापमान सही किए हैं। धन्यवाद)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(→‎विवरण: पुराना नाम जोड़ा गया है।)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
श्रीगंगानगर राजस्थान प्रदेश का सबसे उत्तरी जनपद है जिसके उत्तर में [[फाजिल्का]] (पंजाब) एवं [[हनुमानगढ़]], दक्षिण में [[बीकानेर]] तथा [[चूरू]] (राजस्थान), तथा पश्चिम में [[पाकिस्तान]] है। पहले यह बीकानेर राज्य का एक भाग था।
 
गंगानगर जनपद का प्रमुख प्रशासकीय केंद्र तथा विकासशील नगर भी है। इसका नामकरण बीकानेर के महाराज गंगासिंह के नाम पर हुआ है। यह जिले के सर्वाधिक समुन्नत तथा सिंचित कृषिक्षेत्र में स्थित होने के कारण प्रमुख व्यापारिक मंडी तथा यातायात केंद्र हो गया है। श्रीगंगानगर को राजस्थान का अन्न का कटोरा भी कहा जाता है | यहाँ जनपदीय प्रशासनिक कार्यालयों तथा न्यायालयों के अतिरिक्त कई स्नातक महाविद्यालय तथा अन्य सांस्कृतिक संस्थान हैं। यह नगर पूर्णतया 20वीं शताब्दी की देन है। प्रारंभिकपहले दशाब्दियोंइसे मेंरामनगर यहया अज्ञातरामू की ढाणी कहते थे। बाद में ग्रामगंगानगर रहा।हुआ। लेकिन गंग-नहर सिंचाई परियोजना द्वारा क्षेत्र में कृषि का विकास होने के कारण इसकी जनसंख्या अधिक बढ़ गई है। यहाँ 1945 में चीनी का कारखाना खोला गया। यहाँ एक औद्योगिक संस्थान की भी स्थापना हुई है। श्रीगंगानगर में श्री बुड्ढाजोहड़ गुरुद्वारा व लैला-मजनुं की मजार प्रमुख दर्शनीय स्थल हैं |
 
== जलवायु ==
39

सम्पादन