"जिम पीबल्स" के अवतरणों में अंतर

46 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (HotCat द्वारा श्रेणी:जीवित लोग जोड़ी)
}}
 
'''फिलिप जेम्स एडविन पीबल्स''' ({{Lang-en|Philip James "Jim" Edwin Peebles}}; जन्म 25 अप्रैल, 1935), एक कनाडाई-अमेरिकी [[खगोलभौतिकी|खगोल भौतिकीविद्]], खगोलविद और सैद्धांतिक [[ब्रह्माण्डविद्या|ब्रह्मांड विज्ञानी]] हैं, जो वर्तमान में [[प्रिंसटन विश्वविद्यालय]] में विज्ञान के अल्बर्ट आइंस्टीन प्रोफेसर एमेरिटस हैं।<ref>{{cite web |url=https://www.princeton.edu/physics/about-us/history/memorable-members/john-wheeler/ |title=Princeton University Physics Department |archive-url=https://web.archive.org/web/20110511222857/http://www.princeton.edu/physics/about-us/history/memorable-members/john-wheeler/ |archive-date=May 11, 2011 }}</ref><ref>{{cite web |url=https://www.princeton.edu/main/news/archive/A94/84/71G20/index.xml |title=Princeton University News |archive-url=https://web.archive.org/web/20160413193815/https://www.princeton.edu/main/news/archive/A94/84/71G20/index.xml |archive-date=April 13, 2016 }}</ref> उन्हें 1970 के बाद से इस क्षेत्र में दुनिया के प्रमुख [[ब्रह्माण्डविद्या|सैद्धांतिक ब्रह्मांड]] विज्ञानियों में से एक माना जाता है, जिसमें प्राइमर्डियल न्यूक्लियोसिंथेसिस, [[डार्क मैटर]], कॉस्मिक माइक्रोवेव बैकग्राउंड और [[संरचना निर्माण]] में उनका प्रमुख सैद्धांतिक योगदान है।
 
2019 में भौतिक ब्रह्मांड विज्ञान में सैद्धांतिक खोजों के लिए पीबल्स को साझा भौतिकी नोबेल पुरस्कार का दिया गया है। उन्होंने माइकल मेयर और डिडिएर क्वेलोज़ के साथ पुरस्कार साझा किया है, जिन्हें सौरमंडल से परे एक और ग्रह खोज के लिए यह पुरस्कार दिया गया है।<ref>{{cite news |title=फ़िजिक्स में योगदान के लिए तीन वैज्ञानिकों को मिला नोबेल पुरस्कार |url=https://www.bbc.com/hindi/science-49973541 |accessdate=9 अक्टूबर 2019 |work=बीबीसी हिन्दी |date=2019}}</ref><ref name=N19>{{cite web | title = भौतिकी में नोबेल पुरस्कार, 2019 | publisher = नोबेल फाउंडेशन | url = https://www.nobelprize.org/prizes/physics/2019/summary/ | accessdate = 9 अक्टूबर 2019 | archive-url = https://web.archive.org/web/20181002141926/https://www.nobelprize.org/prizes/physics/2018/press-release/ | archive-date = 9 अक्टूबर 2019 | dead-url = no }}</ref>
124

सम्पादन