"चण्डी": अवतरणों में अंतर

2,291 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
चण्डी माता मंदिर के बारे में जानकारी।
(→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु)
(चण्डी माता मंदिर के बारे में जानकारी।)
प्राचीन हिन्दु और बौद्ध मन्दिरों को [[इंडोनेशिया]] में '''चण्डी''' कहा जाता है। इसके पीछे तथ्य यह है कि इनमे से कई देवी (अथवा चण्डी) उपासना के लिये स्थापित किये गये थे। इनमे से सबसे विख्यात [[प्रमबनन]] चण्डी है।{{cn}}
 
== '''चण्डी माता मंदिर''' ==
चण्डी माता का मंदिर दिव्य और [http://www.blackmagicspecialist1.com अलौकिक] है। चण्डी माता (जिन्हे माचेल माता के नाम से भी जाना जाता है) पोद्दार की खूबसूरत घाटी में स्थित है जो [[जम्मू और कश्मीर]] के [[किश्तवाड़ ज़िला|किश्तवाड़]] क्षेत्र में मौजूद है। विश्वासियों द्वारा चण्डी माता मंदिर में असीम श्रद्धा है। यह हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल माना जाता है। चण्डी माता के मंदिर का रास्ता गुलाबगढ़ से शुरू होता है। यह एक कठिन पहाड़ी पगडंडी है, क्योंकि रास्ता लंबाई में 30 किमी का है। वाहन केवल गुलाबगढ़ तक ही उपलब्ध हैं, और बाकी मार्ग को तीर्थयात्रियों को पहाड़ी पगडंडी मार्ग से सफर करना पड़ता है। लकिन सफर की लम्बाई श्रद्धालुओं को नहीं थकती।, क्योंकि हर साल बहुत सारे श्रद्धालु मंदिर पहुंचते हैं। चण्डी माता मंदिर की यात्रा हर साल अगस्त में होती है। मंदिर का मार्ग भद्रवाह में चिनोटी से शुरू होता है। रास्ता दर्शनीय है और श्रद्धालुओं के साथ-साथ साहसी लोगों के लिए भी उपयुक्त है।
[[श्रेणी:हिन्दू देवियाँ]]
5

सम्पादन