"इलेक्ट्रॉन विन्यास": अवतरणों में अंतर

layout
(true name of file + layout)
टैग: 2017 स्रोत संपादन
(layout)
टैग: 2017 स्रोत संपादन
[[चित्र:Electron orbitalsConfiguration Table.svgjpg|right|thumb|350px600px| आण्विकविद्युदणु औरविन्यास परमाणु कक्षीय में विद्युदणुसारणी ]]
[[चित्र:Electron Configuration Table.jpg|right|thumb|500px| विद्युदणु विन्यास सारणी ]]
[[आणविक भौतिकी]] एवं परिमाण रासायनिकी ([[प्रमात्रा रासायनिकी]]) में किसी [[अणु]], [[परमाणु]] या किसी अन्य भौतिक संरचना में [[इलेक्ट्रॉन|इलेक्ट्रॉनों]] की व्यवस्था को '''इलेक्ट्रॉन विन्यास''' (electron configuaration) कहते हैं।<ref name="IUPAC1">{{GoldBookRef|file=C01248|title=configuration (electronic)}}</ref> इलेक्ट्रॉन विन्यास में इलेक्ट्रॉन को किसी परमाणु या आण्विक प्रणाली में वितरित करने का तरीका दिया गया होता है।
'''उदाहरण''' के लिए, [[नियान]] का इलेक्ट्र्रॉनिक विन्यास यह है- 1s<sup>2</sup> 2s<sup>2</sup> 2p<sup>6</sup>.
[[चित्र:Electron orbitals.svg|center|400px| आण्विक और परमाणु कक्षीय में विद्युदणु ]]
 
== सन्दर्भ ==