"चम्बल परियोजना" के अवतरणों में अंतर

1,530 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
सम्पादन सारांश रहित
छो
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
{{स्रोतहीन|date=सितंबर 2012|चंबल नदी घाटी परियोजना=}}
<nowiki>*</nowiki>यह [[भारत]] की एक प्रमुख नदी घाटी परियोजना हैं। *यह राजस्थान एवम् मध्यप्रदेश सयुंक्त साझेदारी(50:50) कि परियोजना है *इस परियोजना के तहत चम्बल नदी पर तिन चरणों मे चार बांधों का निर्माण किया गया है
{{आधार}}
 
यह [[भारत]] की एक प्रमुख नदी घाटी परियोजना हैं। इसके अंतर्गत चंबल नदी पर तीन बांध - गांधी सागर (मंदसौर), राणा प्रताप सागर (रावतभाटा), जवाहर सागर (कोटा) बनाए गए है । इस परियोजना से राजस्थान और मध्यप्रदेश मे सिंचाई और मिट्टी सरंक्षण हुआ है। इसकी सिंचाई क्षमता 5 लाख हेक्टेयर है।
प्रथम चरण = 1)गांधी सागर बाँध, भानपुरा तह.मंदसोर(मप्र)
 
2) कोटा बेराज . कोटा (राज.)
 
द्वितिय चरण = 1) राणाप्रताप सागर बांध, चित्तौड़गढ(राज.)
 
तृतीय चरण = 1)जवाहर सागर बाँध , कोटा-बूंदी कि सीमा पर (राज.)
 
<nowiki>*</nowiki>कुल विद्युत उत्पादन
 
1) गांधी सागर बाँध से 23mwh×5=115mwh
 
2)राणाप्रताप सागर बाँध 43mwh×4=172mwh
 
3)जवाहर सागर बाँध 33mwh×3=99mwh
 
कुल विद्युत = 386mwh
 
*
 
*
 
 
<nowiki>*</nowiki>राजस्थान एवं मध्यप्रदेश को बराबर 193-193mwh विद्युत कि प्राप्ति होती है
 
4)कोटा बेराज = यह एक सिंचाई बाँध है इससे दो मुख्य नहर निकाली गइ है
 
1)बायी नहर - काेटा-बूंदी की आैर
 
2)दायीं नहर - काेटा-बांरा औऱ मध्यप्रदेश की औऱ!
 
<nowiki>*</nowiki>इन बांधों से 5 लाख हेक्टेयर क्षेत्र सिंचित है
 
ंमता 5 लाख हेकक्षेत्र
 
<br />
 
== परियोजना का प्रारम्भ ==
12

सम्पादन