"शहीद मेला" के अवतरणों में अंतर

1 बैट् नीकाले गए ,  2 वर्ष पहले
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
बेवर, मैनपुरी में चलने वाले इस ""शहीद मेला"" में जंग-ए-आजा़दी में शामिल सभी महानायकों को शिद्दत से याद किया जाता है। 19 दिन तक चलने वाले इस मेले में प्रत्येक दिन विभिन्न लोक सांस्कृतिक- सामाजिक कार्यक्रम जैसे - शहीद प्रदर्शनी, नाटक, फोटो प्रदर्शनी, शहीद परिजन सम्मान समारोह, रक्तदान शिविर, स्वतंत्रता सेनानी सम्मेलन, लोकनृत्य प्रतियोगिता, पत्रकार सम्मेलन, कवि सम्मेलन, राष्ट्रीय एकता सम्मेलन व शहीद मेला फ़िल्म फेस्टिवल आदि आयोजित होते हैं<ref>http://www.asiafirstnews.com/shaheed-mela-in-memory-of-the-heroes-who-played-their-role-in-independence/36259/</ref><ref>https://www.livehindustan.com/uttar-pradesh/mainpuri/story-chairman-inaugurates-handicraft-exhibition-in-mainpuri-1771104.html</ref><ref>http://www.agrabharat.in/news-detail.php?id=1313&title=bewar-saheed-mele-mae-ayojit-hua-patrakaar-sammellan</ref>
 
=== शहीद मन्दिर ===
[[चित्र:Shaheedmelajpg.jpg|अंगूठाकार]]
वर्ष 1994 में थाना-बेवर, जिला-मैनपुरी के सामने "शहीद मंदिर" का निर्माण किया गया। यहां 1942 की जनक्रांति में शहीद हुए तीनों अमर शहीदों ( [[जमुना प्रसाद त्रिपाठी]],विद्यार्थी [[कृष्ण कुमार]] उम्र 14 वर्ष और [[सीताराम गुप्त]])की समाधि भी हैं। इस अनोखे ""शहीद मंदिर"" में इन 3 अमर शहीदों के साथ ही अन्य 2 शहीदों की प्रतिमाएं भी हैं एक क्रांतिकारियों के द्रोणाचार्य कहे जाने वाले ,मातृवेदी नामक गुप्त संस्था के संस्थापक व मैनपुरी एक्शन के अगुवा पंडित [[गेंदालाल दीक्षित]] एवं दूसरी नवीगंज नगर के शहीद [[कुंवर देवेश्वर तिवारी]] की प्रतिमाएं भी स्थापित हैं इसके अलावा यहां आज़ादी के 21 महानायकों की प्रतिमाएं भी एक मण्डप तले लगी हुई हैं। देश भर में एक मंडप के तले जंग-ए-आजा़दी के योद्धाओं की यादों को संजोने वाला यह इकलौता मंदिर है।<ref>https://www.jagran.com/uttar-pradesh/mainpuri-11028368.html</ref><ref>https://m.dailyhunt.in/news/india/hindi/outlook+hindi-epaper-outlookh/aadhi+sadi+se+lag+raha+bevar+me+shahid+mela+yahi+hai+anokha+shahid+mandir-newsid-79274029</ref><ref>http://www.haribhoomi.com/news/shaheed-mela-up-mainpuri</ref><ref>https://www.outlookhindi.com/country/general/a-shaheed-temple-in-bevar-mainpuri-22915</ref><ref>http://www.opinionpost.in/neighbors-of-theirs-are-ineffective-their-bodies-are-bitter-16037-2/</ref>
23

सम्पादन