"शुंग राजवंश" के अवतरणों में अंतर

22 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
छो
171.51.180.37 द्वारा किये गये 1 सम्पादन पूर्ववत किये। (बर्बरता)। (ट्विंकल)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (171.51.180.37 द्वारा किये गये 1 सम्पादन पूर्ववत किये। (बर्बरता)। (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
{{मुख्य|पुष्यमित्र शुंग}}
 
कहा जाता है कि [[पुष्यमित्र शुंग]], जो [[बृहद्रथ मौर्य]] की सेना का धोखेबाज सेनापति था, ने सेना का निरीक्षण करते वक्त बृहद्रथ मौर्य को मार दिया था और सत्ता पर अधिकार कर बैठा था। पुष्यमित्र ने 36 वर्षों तक शासन किया और उसके बाद उसका पुत्र अग्निमित्र सत्तासीन हुआ। आठ वर्षों तक शासन करने के बाद 140 ईसापूर्व के पास उसका पुत्र जेठमित्र (ज्येष्ठमित्र) शासक बना।
 
पुष्यमित्र के शासनकाल की एक महत्वपूर्ण घटना थी, पश्चिम से यवनों (यूनानियों) का आक्रमण। वैयाकरण [[पतंजलि]], जो कि पुष्यमित्र का समकालीन थे, ने इस आक्रमण का उल्लेख किया है। [[कालिदास]] ने भी अपने नाटक [[मालविकाग्निमित्रम]] में वसुदेव का यवनों के साथ युद्ध का ज़िक्र किया है।