"प्रह्लादपुरी मंदिर, मुल्तान" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
|website = [http://www.pakistanhinducouncil.org/ http://www.pakistanhinducouncil.org/]
}}
'''प्रह्लादपुरी मंदिर''' [[पाकिस्तान]] में [[पंजाब (पाकिस्तान)|पंजाब]] प्रांत के [[मुल्तान]] शहर में स्थित एक प्राचीन हिन्दू मंदिर है।है जिसे पहले कश्यपपुर के नाम से जाना जाता था। हिंदू देवता [[नरसिंह]] को समर्पित इस मंदिर का नाम [[प्रह्लाद]] के नाम पर रखा गया है। भारतकहा मेंजाता बाबरीहै मस्जिदकि को गिरानेप्रह्लादपुरी के बादमंदिर का निर्माण भगवान नरसिंह के पाकिस्तानसम्मान में कईप्रह्लाद हिंदूने मंदिरोंकरवाया कोथा। गिरायामंदिर गया,हज़रत जिनमेंबहाउल सेहक़ एकज़करिया प्रल्हादपुरीकी मंदिरकब्र भीसे था।निकट है।
 
==इतिहास==
कहा जाता है कि मंदिर उस स्थान पर स्थित है जहाँ मूल मंदिर का निर्माण प्रह्लाद ने स्वयं किया था और साथ में यह भी कहा जाता है कि यह वह स्थान है जहाँ भगवान [[नरसिंह]] ने पिता [[हिरण्यकशिपु]] से प्रह्लाद को बचाने के लिए स्तंभ के बाहर प्रकट हुए थे।<ref name=x/><ref name=y/><ref name=z>[http://www.thefridaytimes.com/15042011/page16.shtml]</ref> इसलिए, हिंदुओं का मानना है कि होली की शुरुआत इस मंदिर से हुई है।
 
मुल्तान के सूर्य मंदिर की तरह प्रह्लादपुरी मंदिर भी मुल्तान की मुस्लिम विजय के बाद नष्ट हो गया था।
भारत में बाबरी मस्जिद को गिराने के बाद पाकिस्तान में कई हिंदू मंदिरों को गिराया गया, जिनमें से एक प्रल्हादपुरी मंदिर भी था।
 
==वास्तु-कला==
 
मंदिर को मुल्तान किले के अंदर एक उच्च मंच पर बनाया गया था।
==सन्दर्भ==
{{reflist}}
790

सम्पादन