"राजनीति विज्ञान" के अवतरणों में अंतर

छो
Rajguruji.in द्वारा सम्पादित संस्करण 4325486 पर पूर्ववत किया: बर्बर्ता हटाई। (ट्विंकल)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन यथादृश्य संपादिका
छो (Rajguruji.in द्वारा सम्पादित संस्करण 4325486 पर पूर्ववत किया: बर्बर्ता हटाई। (ट्विंकल))
टैग: किए हुए कार्य को पूर्ववत करना
{{स्रोत कम|date=अप्रैल 2019}}
राजनीतिशास्त्र वह विज्ञान है जो मानव के एक राजनीतिक और सामाजिक प्राणी होने के नाते उससे संबंधित राज्य और सरकार दोनों संस्थाओं का अध्ययन करता है।।<ref>{{cite book |last=Vernardakis |first=George |title=Graduate education in government |url=http://books.google.com/books?id=Rd3DDiQm3M8C&pg=PA77&dq=political+science+international+relations+degree#v=onepage&q=political%20science%20international%20relations%20degree&f=false |page=77 |year=1998 |publisher=University Press of America |isbn=0-7618-1171-0 |quote=}}</ref>
 
राजनीति विज्ञान अध्ययन का एक विस्तृत विषय या क्षेत्र है। राजनीति विज्ञान में ये तमाम बातें शामिल हैं:
 
=== राजनीति विज्ञान का क्षेत्र ===
जिस प्रकार राजनीति विज्ञान की परिभाषा विभिन्न विचारकों ने विभिन्न प्रकार से की है, उसी प्रकार उसके क्षेत्र को भिन्न-भिन्न लेखकों ने विभिन्न शब्दों में व्यक्त किया है। उदाहरणार्थ फ्रांसीसी विचारक [[ब्लुंशली]] के अनुसार ’’राजनीति विज्ञान का संबंध राज्य के आधारों से है वह उसकी आवश्यक प्रकृति, उसके विविध रूपों, उसकी अभिव्यक्ति तथा उसके विकास का अध्ययन करता है।’’ डॉ॰ गार्नर के अनुसार ’’इसकी मौलिक समस्याओं में साधारणतः प्रथम राज्य की उत्पत्ति और उसकी प्रकृति का अनुसंधान, तीयद्वितीय राजनीतिक संस्थाओं की प्रगति, उसके इतिहास तथा उनके स्वरूपों का अध्ययन, तथा तृतीय, जहां तक संभव हो, इसके आधार पर राजनैतिक और विकास के नियमों का निर्धारण करना सम्मिलित है। गैटेल ने राजनीति शास्त्र के क्षेत्र का विस्तृत वर्णन करते
हुये लिखा है कि ‘‘ऐतिहासिक दृष्टि से राजनीति शास्त्र राज्य की उत्पत्ति, राजनीतिक संस्थाओं के विकास तथा अतीत के सिद्धान्तों का अध्ययन करता है।... वर्तमान का अध्ययन करने में यह विद्यमान राजनीतिक संस्थाओं तथा विचारधाराओं का वर्णन, उनकी तुलना तथा वर्गीकरण करने का प्रयत्न करता है। परिवर्तनशील परिस्थितियों तथा नैतिक मापदण्डों के आधार पर राजनीतिक संस्थाओं तथा क्रियाकलापों को अधिक उन्नत बनाने के उद्धेश्य से राजनीति शास्त्र भविष्य की ओर भी देखता हुआ यह भी विचार करता है कि राज्य कैसा होना चाहिये।’’
 
अतः यह कहा जा सकता है कि आधुनिक दृष्टिकोण के अनुसार राजनीति विज्ञान मनुष्य के सामाजिक राजनीतिक जीवन का अध्ययन करता है। इसके अन्तर्गत राजनीतिक प्रक्रियाओं के साथ साथ राजनीतिक संगठनों का भी अध्ययन किया जाता है। पिनॉक एवं स्मिथ के अनुसार क्या है (यथार्थ) तथा क्या होना चाहिये (आदर्श) और इन दोनों के बीच यथासंभव समन्वय कैसे प्राप्त किया जाये, इस दृष्टि से हम सरकार तथा राजनीतिक प्रक्रिया के व्यवस्थित अध्ययन को राजनीति विज्ञान कहते है।
 
=== राजनीति विज्ञान के क्षेत्र ===
=== Adhunik rajniti Vigyan ki paribhasha ===
आधुनिक युग में राजनीति विज्ञान का क्षेत्र अत्यधिक विकसित है। [[शक्ति]] व [[प्रभाव]] के सन्दर्भ में राजनीति की सर्वव्यापकता ने उसे हर तरफ पहुंचा दिया है और न केवल सामाजिक बल्कि व्यक्गित जीवन के भी लगभग सभी पक्ष राजनीतिक व्यवस्था के अधीन है। राजनीति की सर्वव्यापकता ने जहाँ एक तरफ राजनीतिक व्याख्याओं की लोकधर्मिता सिद्ध की है वहीं उसने राजनीतिक क्या है, इस संबंध में अस्पष्टता व भ्रम भी पैदा किया हैं। इसके बावजूद राजनीतिक विज्ञान के क्षेत्र को राज्यप्रधान व राज्येतर सन्दर्भों में भलीभांति समझा जा सकता है।
 
 
==बाहरी कड़ियाँ==
*[https://politicalinhindi.blogspot.com/2019/02/What-is-The-Meaning-of-Politics.html राजनीति का अर्थ और परिभाषा क्या है]
*[http://hindu.onetourist.in/2012/09/rajnitishastra.html राजनीतिशास्त्र का उदय]
*[https://books.google.co.in/books?id=shm4DQAAQBAJ&printsec=frontcover#v=onepage&q&f=false राजनीति विज्ञान] (गूगल पुस्तक)