"ईश्वर" के अवतरणों में अंतर

4,117 बैट्स् नीकाले गए ,  10 माह पहले
छो
2401:4900:3108:4165:0:67:3BB0:7301 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:204:E28E:3EE6:B446:753F:FA35:730B के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(🌿संत रामपाल जी महाराज के तत्वज्ञान से सुखी होगा इंसान, पृथ्वी बनेगी स्वर्ग समान। 🌿संत रामपाल जी महाराज के तत्वज्ञान से सतयुग है शीघ्र आने वाला, आध्यात्म ज्ञान का होगा बोलबाला। 🌿भारत देश का विश्व में होगा सम्मान भारत देश में प्रकट हो चुका है भगवान। 🌿तत्वज्ञान से देश और दुनिया की सीमाएं खत्म होंगी। सभी देशों के आपसी झगड़े क्लेश खत्म होंगे - संत रामपाल जी महाराज 🌿"भक्ति करेगा हर इंसान चोरी, छल-कपट, भ्रष्टाचार, व्याभिचार, निर्लजता का न रहेगा नामोनिशान।"- संत रामपाल जी महाराज 🌿परनारी होगी बेट...)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन Emoji
छो (2401:4900:3108:4165:0:67:3BB0:7301 (Talk) के संपादनों को हटाकर 2405:204:E28E:3EE6:B446:753F:FA35:730B के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
 
[[File:YHWH.svg|thumb|200px|नाम [[यहोवा]] इब्रानी में]]
🌿संत रामपाल जी महाराज के तत्वज्ञान से
सुखी होगा इंसान, पृथ्वी बनेगी स्वर्ग समान।
 
🌿संत रामपाल जी महाराज के तत्वज्ञान से
सतयुग है शीघ्र आने वाला, आध्यात्म ज्ञान का होगा बोलबाला।
 
🌿भारत देश का विश्व में होगा सम्मान
भारत देश में प्रकट हो चुका है भगवान।
 
🌿तत्वज्ञान से देश और दुनिया की सीमाएं खत्म होंगी। सभी देशों के आपसी झगड़े क्लेश खत्म होंगे - संत रामपाल जी महाराज
 
🌿"भक्ति करेगा हर इंसान
चोरी, छल-कपट, भ्रष्टाचार, व्याभिचार, निर्लजता का न रहेगा नामोनिशान।"- संत रामपाल जी महाराज
 
🌿परनारी होगी बेटी, बहन, मात समान।
पर धन विष समान - संत रामपाल जी महाराज
 
🌿संत रामपाल जी महाराज द्वारा दी गई शास्त्रानुकूल साधना सबको एक सूत्र में बांधेगी व सबका मानवता धर्म बन जायेगा।
 
🌿पूरे विश्व में एक संविधान बनेगा, एक नियम, एक कानून बनेगा। सभी के लिए समान कायदा समान नियम होगा।
 
🌿संत रामपाल जी महाराज के तत्वज्ञान से जीव हत्या बंद होगी। सब शाकाहारी होंगे, मांसाहार नहीं।
 
🌿नशे की लत तथा दहेज जैसी कुरीति को जड़ से उखाड़ेगा तत्वज्ञान - संत रामपाल जी महाराज
 
🌿प्रदूषण की समस्या होगी दूर।
रोगियों के रोग होंगे दूर।
स्वस्थ तन व स्वस्थ मन होगा।
जती सती स्त्री-पुरुष होंगे।
मानव धर्म सर्वोपरी होगा।
 
🌿धरती होगी स्वर्ग समान। विश्व शांति लाएगा तत्वज्ञान।
 
🌿कलयुग में सतयुग
सतयुग में सभी परमेश्वर के संविधान के अनुसार पराई स्त्री को बहन, बेटी, माता के तुल्य देखा करते थे, उनके अंदर दोष नहीं रहता था।
आज यह गुण यदि देखने को मिलेगा तो वह संत रामपाल जी महाराज के अनुयायियों में ही देखने को मिलेगा।
 
🌿सभी भविष्यवक्ताओं ने वर्तमान समय के लिए सतयुग जैसा माहौल होने की भविष्यवाणी की है लेकिन चारों तरफ हाहाकार है।
सिर्फ संत रामपाल जी महाराज द्वारा तैयार विकार मुक्त समाज को देखकर लगता है सतयुग की आहट शुरू हो गयी है।
 
== धर्म और दर्शन में परमेश्वर की अवधारणाएँ ==