"हिंदी साहित्य" के अवतरणों में अंतर

19 बैट्स् जोड़े गए ,  7 माह पहले
सम्पादन सारांश रहित
{{स्रोतहीन|date=जून 2016}}
[[चित्र:Chandrakanta.jpg|right|100px|thumb|चंद्रकांता का मुखपृष्ठ]]
'''हिन्दी''' [[भारत]] और विश्व में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। उसकी जड़ें प्राचीन भारत की [[संस्कृत]] भाषा में तलाशी जा सकती हैं। परंतु [[हिन्दी साहित्य]] की जड़ें मध्ययुगीन भारत की [[अवधी]], [[मागোधी|मागधी]] , [[अर्धमागधी]] तथा [[मारवाड़ी]] जैसी भाषाओं के [[साहित्य]] में पाईपायी जाती हैं। हिंदी में [[गद्य]] का विकास बहुत बाद में हुआ और इसने अपनी शुरुआत [[कविता]] के माध्यम से जो कि ज्यादातर [[लोकभाषा]] के साथ प्रयोग कर विकसित की गई।हिंदी का आरंभिक साहित्य अपभ्रंश में मिलता है। हिंदी में तीन प्रकार का साहित्य मिलता है। [[गद्य]] [[पद्य]] और [[चम्पू]]। हिंदी की पहली रचना कौन सी है इस विषय में विवाद है लेकिन ज़्यादातर साहित्यकार [[देवकीनन्दन खत्री]] द्वारा लिखे गये उपन्यास [[चंद्रकांता]] को हिन्दी की पहली प्रामाणिक गद्य रचना मानते हैं।
 
== हिन्दी साहित्य का इतिहास ==