"ओंकारेश्वर मन्दिर" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन उन्नत मोबाइल सम्पादन
|location=[[मध्य प्रदेश]] के [[खंडवा]] जिले में
}}
'''[https://ghumteganesh.com/omkareshwar-mandir/ ॐकारेश्वर]''' एक [[हिन्दू]] मंदिर है। यह [[मध्य प्रदेश]] के [[खंडवा]] जिले में स्थित है। यह [[नर्मदा]] नदी के बीच मन्धाता या शिवपुरी नामक द्वीप पर स्थित है। यह भगवान [[शिव]] के बारह [[ज्योतिर्लिंग]]ओं में से एक है। यह यहां के मोरटक्का गांव से लगभग (14 कि॰मी॰) दूर बसा है। यह द्वीप हिन्दू पवित्र चिन्ह '''ॐ''' के आकार में बना है। यहां दो मंदिर स्थित हैं<ref>{{cite web|url= https://www.myoksha.com/omkareshwar-temple/|title= ओम्कारेश्वर मन्दिर}}</ref>।
* ॐकारेश्वर
* ममलेश्वर
== ओंकारेश्वर यात्राक्रम ==
 
मान्धाता टापू में ही [https://ghumteganesh.com/omkareshwar-mandir/ ऑकारेश्वर] की दो परिक्रमाएँ होती हैं - एक छोटी और एक बड़ी। ऑकारेश्वर की यात्रा तीन दिन की मानी जाती है। इस तीन दिन की यात्रा में यहाँ के सभी तीर्थ आ जाते हैं। अत: इस क्रम से ही वर्णन किया जा रहा है।
 
प्रथम दिन की यात्रा- कोटि-तीर्थ पर ( मान्धाता द्वीप में ) स्नान और घाट पर ही कोटेश्वर, हाटकेश्वर, त्र्यम्बकेश्वर, गायत्रीश्वर, गोविन्देश्वर, सावित्रीश्वर का दर्शन करके भूरीश्वर, श्रीकालिका तथा पंचमुख गणपति का एवं नन्दी का दर्शन करते हुए ऑकारेश्वरजी का दर्शन करे। ओंकारेश्वर मन्दिर में ही शुकदेव, मान्धांतेश्वर, मनागणेश्वर, श्रीद्वारिकाधीश, नर्मदेश्वर, नर्मदादेवी, महाकालेश्वर, वैद्यनाथेश्वरः, सिद्धेश्वर, रामेश्वर, जालेश्वरके दर्शन करके विशल्या संगम तीर्थ पर विशल्येश्वर का दर्शन करते हुए अन्धकेश्वर, झुमकेश्वर, नवग्रहेश्वर, मारुति (यहाँ राजा मानकी साँग गड़ी है): साक्षीगणेश, अन्नपूर्णा और तुलसीजी का दर्शन करके मध्याह्न विश्राम किया जाता है। मध्याहोत्तर अविमुक्तेश्वर, महात्मा दरियाईनाथ की गद्दी, बटुकभैरव, मंगलेश्वर, नागचन्द्रेश्वर, दत्तात्रेय एवं काले-गोरे भैरव का दर्शन करते बाजार से आगे श्रीराममन्दिर में श्रीरामचतुष्टय का तथा वहीं गुफा में धृष्णेश्वर का दर्शन करके नर्मदाजीके मन्दिरमें नर्मदाजी का दर्शन करना चाहिये।
बेनामी उपयोगकर्ता