"मध्य भारत (पूर्व राज्य)" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
(राजनीति, भूगोल और साँचा जोड़ा)
 
{{Infobox Former Subdivision|conventional_long_name=मध्य भारत|p1=[[मध्य भारत एजेंसी]]|stat_pop1=9261907|stat_year1=1881|stat_area1=194000|image_map_caption=मध्य भारत की भारत में अवस्थिति (1951)|image_map=Madhya Bharat in India (1951).svg|image_coat=|image_flag=|flag_s1=Flag of India.svg|flag_p1=British Raj Red Ensign.svg|s1=मध्य प्रदेश|date_event1=|common_name=मध्य भारत|event1=|event_end=[[मध्य प्रदेश]] राज्य का गठन|date_end=|year_end=1956|event_start=[[मध्य भारत एजेंसी]] की समाप्ति|date_start=|year_start=1947|era=|status_text=[[भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश|भारत का भूतपूर्व राज्य]]|nation=[[भारत]]|footnotes=}}<nowiki> </nowiki>'''मध्य भारत''', जिसे '''[[मालवा|मालवा संघ]]''' के नाम से भी जाना जाता है, <ref>[http://www.statoids.com/uin.html India States]</ref> पश्चिम-मध्य [[भारत]] में एक [[भारत के राज्य तथा केन्द्र-शासित प्रदेश|भारतीय राज्य]] था। इसे 28 मई 1948<ref>{{Cite web|url=http://www.bhind.nic.in/formation.html|title=Bhind-History|publisher=Bhind district website|archive-url=https://web.archive.org/web/20090619091740/http://bhind.nic.in/formation.html|archive-date=19 June 2009}}</ref> को पच्चीस [[ब्रिटिश भारत में रियासतें|रियासतों]] को मिलाकर बनाया गया था, जो 1947 तक मध्य भारत एजेंसी का हिस्सा रही थीं।<ref>{{Cite web|url=http://www.bhind.nic.in/formation.html|title=Bhind-History|publisher=Bhind district website|archive-url=https://web.archive.org/web/20090619091740/http://bhind.nic.in/formation.html|archive-date=19 June 2009}}</ref> इसके [[राजप्रमुख]] [[जीवाजीराव सिंधिया]] थे।
 
इस संघ का क्षेत्रफल {{Convert|46478|sqmi|km2}} था।<ref name="bhattacharyya">{{Cite book|url=https://books.google.com/books?id=njYpsvmr2dsC&pg=PA53&dq=Madhya+Bharat+Part+B#v=onepage&q=Madhya%20Bharat%20Part%20B&f=false|title=Historical Geography of Madhya Pradesh from Early Records|last=Bhattacharyya|first=P. K.|publisher=Motilal Banarsidass|year=1977|isbn=9788120833944|pages=53–4}}</ref> [[ग्वालियर]] इसकी शीतकालीन राजधानी थी और [[इन्दौर|इंदौर]] ग्रीष्मकालीन राजधानी थी। यह दक्षिण-पश्चिम में [[बॉम्बे राज्य|बॉम्बे]] (वर्तमान में [[गुजरात]] और [[महाराष्ट्र]] ), [[उत्तर प्रदेश|उत्तर]] पूर्व में [[राजस्थान]], [[उत्तर प्रदेश|उत्तर में उत्तर प्रदेश]], पूर्व में उत्तर प्रदेश और [[विंध्य क्षेत्र|विंध्य प्रदेश]] और दक्षिण में भोपाल रियासत और [[मध्य प्रदेश]] से घिरा था। आबादी ज्यादातर [[हिन्दू|हिंदू]] और [[हिन्दी|हिंदी-]] भाषी थी।