"विद्युत्-क्षेत्र" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
यदि किसी स्थान पर स्थित किसी स्थिर आवेशित कण पर [[बल]] लगता है तो कहते हैं कि उस स्थान पर '''विद्युत्-क्षेत्र''' (electric field) है। विद्युत क्षेत्र आवेशित कणों के द्वारा उत्पन्न होता है या समय के साथ परिवर्तित हो रहे [[चुम्बकीय क्षेत्र]] के कारण। विद्युत क्षेत्र का कांसेप्ट सबसे पहले [[माइकल फैराडे]] ने दिया था। विद्युत क्षेत्र एक [[सदिश]] (vector) राशि है।
ELECTRIC FIELD :-
आवेश समुह के चारो तरफ का वह क्षेत्र जिसमे कोइ अन्य आवेश आकर्षण या प्रतिकर्षण बल का अनुभव करता है, '''वैद्दुत क्षेत्र''' (ELECTRIC FIELD) कहलाता है।
विद्युत आवेश के चारों ओर किसी बिंदु पर विद्युत क्षेत्र एक सदिश राशि है। विद्युत आवेश के आसपास वक्र रेखाओं से निदर्शित किया जाता है।
 
[[श्रेणी:विद्युत]]
धन आवेश से विद्युत क्षेत्र रेखाएं बाहर निकलती हुई तथा ऋण आवेश के अंदर जाती हुई दर्शाई जाती हैं