"सिपाही" के अवतरणों में अंतर

152 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
टैग: 2017 स्रोत संपादन
टैग: 2017 स्रोत संपादन
| battles =
}}
'''सिपाही''' ({{lang-en|Sepoy}}) [[नेपाली सेना|नेपाली]], [[भारतीय सेना|भारतीय]] तथा [[पाकिस्तानी सेना]] में सबसे निचले पद के सैनिक को कहा जाता है।<ref>John Keegan, pages 312 and 545 "Armies of the World, {{ISBN|0-333-17236-1}}</ref> इसभारतीय पैदल सेना में इन्हें राइफल मैन भी कहा जाता है। सिपाही शब्द का उपयोग मूल रूप से [[मुगल साम्राज्य की सेना|मुगल सेनाओं]] में [[मस्कट]] से लैस [[इन्फेंट्री]] सेनिकों के लिए किया जाता था।<ref name="Philip Mason, 1974">{{cite book |title=A Matter of Honour |last=Mason |first=Philip |year=1974 |publisher=Holt, Rhinehart & Winston |location=London |isbn=0-03-012911-7 |8= |pages= |url-access=registration |url=https://archive.org/details/matterofhonour0000maso }}</ref> १८ वीं शताब्दी में [[फ्रांसीसी ईस्ट इंडिया कंपनी]] और उसके अन्य यूरोपीय समकक्षों ने भारत के भीतर स्थानीय स्तर पर सैनिकों को भर्ती करना शुरू किया, जिसमें मुख्य रूप से "सिपाही" के रूप में नामित पैदल सेना शामिल थी। यूरोपीय तौर-तरीकों के साथ प्रशिक्षित इन भारतीय सिपाहियों की सेनाओं में से सबसे बड़ी, [[ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी]] से संबंधित थी;<ref>{{cite journal |author=Gerald Bryant |date=1978 |title=Officers of the East India Company's army in the days of Clive and Hastings |journal=The Journal of Imperial and Commonwealth History |volume=6 |issue=3 |pages=203-27 |doi=10.1080/03086537808582508}}</ref> कुल ३ लाख सैनिकों वाली ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना के ९६ प्रतिशत के करीब सैनिक भारत के मूल निवासी थे, और इन सिपाहियों ने ही कंपनी के लिए उपमहाद्वीप को सुरक्षित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।<ref>{{cite web|url=http://www.fsmitha.com/h3/h38sep.htm |title=India's Sepoy Mutiny |publisher=Fsmitha.com |date= |accessdate=2012-08-01}}</ref>
 
== सन्दर्भ ==