"बंडोल" के अवतरणों में अंतर

2 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (बॉट: साँचा बदल रहा है: Infobox Indian Jurisdictions)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन उन्नत मोबाइल सम्पादन
[[बन्डोल]] का यह संपूर्ण क्षेत्र सर्वाधिक स्टोन क्रेशर होने के कारण ज्यादा जाना जाता है इसकी गिट्टीयाँ आस-पास के जिले खासकर बालाघाट जिले में ज्यादा पहुचायी जाती हैँ।
बंडोल ग्राम में विश्व प्रसिद्ध माता कात्यायनी का भव्य मंदिर है।
चेत्र और शारदीय [[नवरात्रि]] के समय [[षष्‍ठी पूजा]] के दिन कुंवारी कन्याओं द्वारा पूजा करने का विशेष महत्व है। मान्यता के अनुसार कुंवारी कन्या द्वारा षष्टी पूजा विधि विधान से करने पर मनभावन वर की प्राप्ती होती है। गॉव की सप्ताहिक बाजार का दिन गुरुवार हैँ। बंडोल गाँव से 2 किलोमीटर पश्चिम दिशा की ओर [[वैनगंगा नदी]]प्रवाहित होती है।
प्रवाहित होती है।
 
[[चित्र:वैनगंगा नदी बंडोल.jpg|thumb|right|300px|वैनगंगा नदी]]
169

सम्पादन