"अटलांटिक महासागर" के अवतरणों में अंतर

छो
बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
[[चित्र:Atlantic Ocean - hi.png|thumb|right|ग्लोब पर अंध महासागर की स्थिति]]
{{पंच सागर}}
'''अन्ध महासागर''' या '''अटलांटिक महासागर''' उस विशाल जलराशि का नाम है जो [[यूरोप]] तथा [[अफ़्रीका|अफ्रीका]] महाद्वीपों को नई दुनिया के महाद्वीपों से पृथक करती है। [[क्षेत्रफल]] और विस्तार में दुनिया का दूसरे नंबर का महासागर है जिसने [[पृथ्वी]] का १/५ क्षेत्र घेर रखा है। इस महासागर का नाम [[यूनान|ग्रीक]] संस्कृति से लिया गया है जिसमें इसे ''नक्शे का समुद्र'' भी बोला जाता है। इस महासागर का आकार लगभग अंग्रेजी अक्षर '''8''' के समान है। लंबाई की अपेक्षा इसकी चौड़ाई बहुत कम है। [[उत्तरध्रुवीय महासागर|आर्कटिक सागर]], जो [[बेरिंग जलसन्धि|बेरिंग जलडमरूमध्य]] से [[उत्तरी ध्रुव]] होता हुआ स्पिट्सबर्जेन और [[ग्रीनलैण्ड|ग्रीनलैंड]] तक फैला है, मुख्यतः अंधमहासागर का ही अंग है। इस प्रकार उत्तर में बेरिंग जल-डमरूमध्य से लेकर दक्षिण में कोट्सलैंड तक इसकी लंबाई १२,८१० मील है। इसी प्रकार दक्षिण में दक्षिणी [[जॉर्जिया (देश)|जार्जिया]] के दक्षिण स्थित वैडल सागर भी इसी महासागर का अंग है। इसका क्षेत्रफल इसके अंतर्गत समुद्रों सहित ४,१०,८१,०४० [[वर्ग मील]] है। अंतर्गत समुद्रों को छोड़कर इसका क्षेत्रफल ३,१८,१४,६४० वर्ग मील है। विशालतम महासागर न होते हुए भी इसके अधीन विश्व का सबसे बड़ा जलप्रवाह क्षेत्र है। उत्तरी अंधमहासागर के पृष्ठतल की लवणता अन्य समुद्रों की तुलना में पर्याप्त अधिक है। इसकी अधिकतम मात्रा ३.७ प्रतिशत है जो २०°- ३०° उत्तर अक्षांशों के बीच विद्यमान है। अन्य भागों में लवणता अपेक्षाकृत कम है।
 
== नितल <!-- की संरचना --> ==
[[चित्र:Atlantic bathymetry.jpg|thumb|left|सागर की गहराइयां दिखाता मानचित्र]]
अन्ध महासागर के नितल के प्रारंभिक अध्ययन में जलपोत चैलेंजर (१८७३-७६) के अन्वेषण अभियान के ही समान अनेक अन्य वैज्ञानिक महासागरीय अन्वेषणों ने योग दिया था। अन्ध महासागरीय विद्युत केबुलों की स्थापना के हेतु आवश्यक जानकारी की प्राप्ति ने इस प्रकार के अध्यायों को विशेष प्रोत्साहन दिया। इसका नितल इस महासागर के एक कूट द्वारा पूर्वी और पश्चिमी द्रोणियों में विभक्त है। इन द्रोणियों में अधिकतम गहराई १६,५०० फीट से भी अधिक है। पूर्वोक्त समुद्रांतर कूट काफी ऊँचा उठा हुआ है और आइसलैंड के समीप से आरंभ होकर ५५°डिग्री दक्षिण [[अक्षांश रेखाएँ|अक्षांश]] के लगभग स्थित बोवे द्वीप तक फैला है। इस महासागर के उत्तरी भाग में इस कूट को डालफिन कूट और दक्षिण में चैलेंजर कूट कहते हैं। इस कूट का विस्तार लगभग १०,००० फुट की गहराई पर अटूट है और कई स्थानों पर कूट सागर की सतह के भी ऊपर उठा हुआ है। अज़ोर्स, [[सेंट पॉल, मिनेसोटा|सेंट पॉल]], असेंशन, [[त्रिस्तान दा कून्हा|ट्रिस्टाँ द कुन्हा]] और बोवे द्वीप इसी कूट पर स्थित है। निम्न कूटों में [[अंधअटलांटिक महासागर|दक्षिणी अंध महासागर]] का वालफिश कूट और रियो ग्रैंड कूट, तथा [[अंधअटलांटिक महासागर|उत्तरी अंध महासागर]] का वाइविल टामसन कूट उल्लेखनीय हैं। ये तीनों निम्न कूट मुख्य कूट से लंब दिशा में फैले हैं।
 
[[चित्र:Porto Covo pano April 2009-4.jpg|thumb|250px|[[पुर्तगाल]] के पश्चिमी तट से अंध महासागर का दृश्य]]
85,063

सम्पादन