"सालासर बालाजी" के अवतरणों में अंतर

22 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
छो
बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
इस स्थान को इन दोनों पवित्र भक्तों का समाधि स्थल माना जाता है।
पिछले आठ सालों से यहाँ निरंतर रामायण का ''पाठ'' किया जा रहा है।
भगवान बालाजी के मंदिर परिसर में, पिछले 20 सालों से लगातार ''अखण्ड हरी कीर्तन'' या ''[[श्रीराम|राम]] के नाम का निरंतर जाप'' किया जा रहा है।
'''अंजनी माता''' का मंदिर लक्ष्मणगढ़ की ओर सालासर धाम से दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
अंजनी माता भगवान हनुमान या बालाजी की माँ थी। गुदावादी श्याम मंदिर भी सालासर धाम से एक किलोमीटर के भीतर स्थित है। मोहनदास जी के समय से दो बैलगाड़ियों को यहाँ बालाजी मंदिर परिसर में रखा गया है।
85,624

सम्पादन