"उल्फा" के अवतरणों में अंतर

111 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
अनुप चेतिया (जनरल सेक्रेटरी) (वर्तमान में बांग्लादेश सरकार की कस्टडी में है), प्रदीप गोगोई (वाइस चेयरमैन) (असम सरकार की कस्टडी में) खुद को क्रांतिकारी संगठन मानता है उल्फा उल्फा अपने-आप को भारत के खिलाफ सुंप्रभु और स्वतंत्र असम की स्थापना में संघर्षरत क्रांतिकारी राजनीतिक संगठन कहता है। उल्फा का कहना है कि असम कभी भी भारत का हिस्सा नहीं था। उल्फा का दावा है कि असम जिन ढ़ेर सारी मुश्किलों का सामना कर रहा है उनमें राष्ट्रीय पहचान सबसे प्रमुख समस्या है। इसलिए उल्फा स्वतंत्र दिमाग से संघर्षरत लोगों का प्रतिनिधित्व कर रहा है। ऐस लोग जो नस्ल, जनजाति, जाति, धर्म और राष्ट्रीयता से प्रभावित नहीं हैं।
 
जबकि भारत सरकार ने उल्फा को आतंकवादी संगठनों की श्रेणी में रखा है और प्रीवेंशन एक्ट के तहत उल्फा को प्रतिबंधित किया है। भारत ने उल्फा के खिलाफ भारतीय सेना द्वारा संचालित ऑपरेशन बजरंग शुरू किया है। सरकार ने उल्फा पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी [[इंटर-सर्विसेस इंटेलिजेंस|आईएसआई]] और बांग्लादेशी खुफिया एजेंसी [[डीजीएफआई]] से संपर्क बना भारत के विरुद्ध छद्म युद्ध छेड़ने का आरोप लगाया है।
 
=== प्रमुख वारदातें ===
 
== असम के अलगाववादी संगठनों की सूची ==
असम में 35 से भी ज्यादा अलगाववादी संगठन हैं सक्रिय हैं। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई भारत में आतंकी गतिविधियों को तेज करने के लिए हमेशा से ही साजिशें रचता रहा है। [[जम्मू और कश्मीर|जम्मू-कश्मीर]] में घुसपैठियों को मदद देने के लिए बदनाम खुफिया एजेंसी बांग्लादेशी खुफिया एजेंसियों के साथ मिलकर भारत के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में सक्रिय विद्रोही संगठन उल्फा (युनाइटेड लिब्रेशन फ्रंट ऑफ असम) को संगठित करने का प्रयास जोर शोर से कर रही है।
 
युनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम (उल्फा)
85,736

सम्पादन