"कृष्ण चन्द्र पंत" के अवतरणों में अंतर

175 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
 
 
ये 10 अगस्त 1931 को नैनीताल के निकट मवाली में पैदा हुए थे। ये अग्रणी स्वतंत्रता सेनानी और उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री [[गोविन्द बल्लभ पन्त|गोविन्द वल्लभ पंत]] के पुत्र थे।
{{Infobox officeholder
| name = [[कृष्ण चन्द्र पंत]]
| image =
| birth_date = {{Birth date|df=yes|1935|08|10}}
| birth_place = [[भवाली|भोवाली]] , [[नैनीताल]], [[उत्तराखण्ड|उत्तराखंड]]
| death_date = 15 नवम्बर 2012
| death_place =
| successor2 = [[मोनटेक सिंह आहलूवालिया]]
| party = [[भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस]]
| father = [[गोविन्द बल्लभ पन्त|गोविन्द वल्लभ पंत]]
| spouse = [[इला पंत]]
| nationality = [[भारतीय]]
 
== राजनीतिक जीवन ==
पंत ने शिक्षा पूरी करने के बाद [[कांग्रेस]] में शामिल होकर राजनीति में प्रवेश किया। वे 1962 में पहली बार लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए। वह करीब 26 वर्ष तक सांसद रहे। लोकसभा के अलावा वह [[राज्य सभा|राज्यसभा]] के भी सदस्य रहे। 1967 से वे केंद्र में मंत्री रहे। रक्षा मंत्रालय के अतिरिक्त उन्होंने वित्त इस्पात एवं भारी इंजीनियरिंग, गृह, सिंचाई एवं बिजली, ऊर्जा आदि मंत्रालयों का भी कामकाज संभाला।
1987 से 1989 तक [[भारत के रक्षा मंत्री]] रहे पंत की नौसेना के लिए विमानवाहक पोत आईएनएस विराट तथा वायुसेना के लिए मिग-29 विमान हासिल किए जाने में अहम भूमिका रही। वे 1962, 1967, 1971 मे नैनीताल लोकसभा सीट से सांसद रहे , 1977 के आम चुनावों में भारतीय लोकदल के प्रत्याशी भारतभूषण ने उन्हे हरा दिया, उसके बाद पुनः 1989 में लोकसभा के लिए चुने गए। वे 1978 में राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुए और 1979-80 के दौरान उच्च सदन के नेता रहे।
 
85,674

सम्पादन