"यौवनारम्भ" के अवतरणों में अंतर

48 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल एप सम्पादन Android app edit
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
{{आधार}}
[[चित्र:Malepuberty.jpg|right|thumb|300px|कालक्रमानुसार पुरुषों के वाह्य अंगों में यौनिक परिवर्तन]]
[[होमो सेपियन्स|मानव]] में '''यौवनारम्भ''' या '''वय:सन्धि''' (puberty) शारीरिक परिवर्तन की उस प्रक्रिया को कहते हैं जिसके द्वारा कालक्रम में [[बच्चा|बच्चे]] से बढ़कर [[जनन|प्रजनन]] में समर्थ [[जवान]] बन जाता है। यौवनारम्भ की शुरूवात [[हार्मोन|हार्मोनों]] के बनने से होती है।
[[चित्र:Tanner scale-female.svg|right|thumb|300px|कालक्रमानुसार लड़कियों के वाह्य अंगों में यौनिक परिवर्तन]]
मानव की ग्रोथ व विकास यह जन्म से लेकर(उसके भी पहले गर्भधारणा से) शुरू हुआ तो भी उसका भ्रूण, शिशु/नवजात अर्भक, शिशु, बालक, कुमार, किशोर, तरुण, प्रौढ, वृद्ध, इत्यादी अनेक टप्पों से जाना होता है।दसवे वर्ष से लेकर सोलह से बीस वर्ष के संक्रमण के कालखंड को किशोरवय कहते हैं। इस कालखंड में अपरिपक्व बालक (कुमारा) की पूर्ण शारीरिक ग्रोथ होकर मानसिक-सामाजिक दृष्टि से प्रगल्भ प्रौढ व्यक्ती में रूपांतर होता है। इसी अायु में होने वाले व्यक्ति की लैंगिक ग्रोथ और विकास के टप्पे को प्युबर्टी(यौवनावस्था)कहते हैं।
85,949

सम्पादन