"कलीसिया" के अवतरणों में अंतर

194 बैट्स् जोड़े गए ,  1 वर्ष पहले
छो
बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है
छो (बॉट: पुनर्प्रेषण ठीक कर रहा है)
[[File:Hortus Deliciarum, Das Gebäude der Kirche mit den Gläubigen.JPG|thumb|एक ''एक्कलीसिया'' को दर्शाती हुई, मध्यकालीन यूरोपीय चित्र, १२वीं सदी]]
'''कलीसिया''' ([[लैटिनलातिन भाषा|लातिनी]]:Ecclesia, ''एक्क्लेसिया'') अथवा '''चर्च''' का अर्थ [[ईसाई धर्म]] के अन्तर्गत आने वाले किसी भी धार्मिक संगठन या साम्प्रदाय को कहा जाता है। कलीसिया, का शाब्दिक अर्थ है लोगों का समूह या सभा। कलीसिया कुछ विशेष ईसाइ विश्वासियों का संगठन या समूह, को कहते हैं, जिन्हें ईसाई मान्यता के अनुसार, एकमात्र परमेश्वर में विस्वास हो तथा उनके पुत्र ईसा मसीह पर विश्वास हो। विश्वासियों के इस समुदाय के सदस्य इस तरह देश-काल से परे एक सार्वभौमिक कलीसिया के भाग होते हैं। यह सार्वभौमिक कलीसिया एक वैश्विक समुदाय के समान है जिसमें हर विश्वासी एक अंग का कार्य करता है।
 
==नामकरण==
इस बात से सहमत हैं कि ईसा ने केवल एक ही कलीसिया की स्थापना की थी, किंतु अनेक कारणों से ईसाइयों की एकता अक्षुण्ण नहीं रह सकी। फलस्वरूप आजकल ईसाई धर्म के बहुत से कलीसिया अथवा संगठन वर्तमान हैं जो एक दूसरे से पूर्णतया स्वतंत्र हैं। उनका वर्गीकरण इस प्रकार किया जा सकता है :
 
===[[रोमनकैथोलिक काथलिक चर्चकलीसिया|रोमन काथलिक कलीसिया]]===
[[File:Petersdom von Engelsburg gesehen.jpg|thumb|right|250px|[[वैटिकन सिटी]] का [[संत पीटर्स बसिलिका]], विश्व का मौजूद सबसे विशाल चर्च भवन(गिरजा), तथा रोमन कैथोलिक कलीसिया का मुख्यालय।<ref name="UNESCO Article">[http://whc.unesco.org/en/list/286 UNESCO World Heritage: Vatican City]</ref>]]
इसका संगठन सबसे सुदृढ़ है एवं विश्व भर के अधिकांश ईसाई इसके सदस्य हैं। [[कैथोलिक कलीसिया|रोमन कैथोलिक]] [[रोम]] के [[पोप]] को सर्वोच्च धर्मगुरु मानते हैं। ये स्वयं ही एक चर्च है।
 
===[[प्राच्य चर्च|प्राच्य कलीसिया]]===
पूर्व यूरोप के प्राय: सभी ईसाई जो शताब्दियों पहले [[रोम]] से अलग हो गए हैं, अधिकांश आर्थोदोक्स (Orthodox) कहलाते हैं। [[पूर्वी ऑर्थोडॉक्स चर्च|ऑर्थोडॉक्स]] रोम के पोप को नहीं मानते, पर अपने-अपने राष्ट्रीय धर्मसंघ के [[पैट्रिआर्क]] को मानते हैं और परम्परावादी होते हैं। हर राष्ट्र का सामान्यतः अपना अलग ही चर्च होता है।
 
===[[प्रोटेस्टैंटप्रोटेस्टेंट धर्मसंप्रदाय|प्रोटेस्टैंट कलीसिया]]===
यह 16वीं शताब्दी में प्रारंभ हुआ था। [[प्रोटेस्टेंट संप्रदाय|प्रोटेस्टेंट]] किसी [[पोप]] को नहीं मानते और इसके बजाय बाइबिल में पूरी श्रद्धा रखते हैं। इस साम्प्रदाय में कई चर्च आते हैं।
 
===[[ऐंग्लिकनआंग्लिकाई समुदायऐक्य|ऐंग्लिकन कलीसिया]]===
यद्यपि प्रारंभ ही से ऐंग्लिकन चर्च पर प्रोटेस्टैंट धर्म का प्रभाव पड़ा, फिर भी अधिकांश ऐंग्लिकन ईसाई अपने को प्रोटेस्टैंट नहीं मानते।
 
*[[गिरजाघर]]
*[[ईसाई धर्म का इतिहास]]
*[[ईसाई धर्म का इतिहास|चर्च (संस्था)]]
 
== बाहरी कड़ियाँ ==
85,751

सम्पादन