"दोमेनिको घिर्लांदाइयो" के अवतरणों में अंतर

सम्पादन सारांश रहित
छो (बॉट: अंगराग परिवर्तन)
 
घिर्लांदाइयो के चित्रकार्य की परंपरा इस प्रकार है- फ्लोरेंस के वेस्पुच्ची गिरजे में लिखित कृपालु मदोना, तथा दु:खप्रकाश (१४७२-७३), फ़िना, कोलेगियाता तथा गिमिन्यानो के जीवन के घटनाचित्र (१४७५) सत्तीमो में बादिया के भित्तिचित्र (१४७९), पोत्वेरोजा में सान दोनातो के भित्तिचित्र, फ्लोरेंस में ओन्यीसांती में अंतिम भोज के तीन तीन तथा संत जेरोम के प्रसिद्ध भित्तिचित्र (१४८०), सांता मारिया नोवेला के संत जान बप्तिस्त तथा कुमारी मरियम के जीवन की घटनाओं से संबंधित असाधारण सुंदर भित्तिचित्र।
 
 
==सन्दर्भ==
[[श्रेणी:चित्रकार]]