"फ़रात नदी" के अवतरणों में अंतर

130 बैट्स् नीकाले गए ,  11 माह पहले
छो
103.211.41.48 (Talk) के संपादनों को हटाकर EatchaBot के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया
(From a islamik book name bahare shariyat hindi page no. 30 heading Akhirat or hashr ka bayan .)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
छो (103.211.41.48 (Talk) के संपादनों को हटाकर EatchaBot के आखिरी अवतरण को पूर्ववत किया)
टैग: प्रत्यापन्न
 
'''फ़रात नदी''' ([[अरबी भाषा|अरबी]]: الفرات‎ [[तुर्कीयाई भाषा|तुर्क]]: ''Fırat'') दक्षिणपश्चिम [[एशिया]] की सबसे लम्बी और एतिहासिक रूप से सबसे महत्वपूर्ण नदियों में से एक है। [[दजला नदी]] के साथ मिलकर यह [[मेसोपोटामिया]] की दो परिभाषापूर्ण नदियों में से एक है। यह नदी [[तुर्की]] में टौरस पहाड़ों पर आरम्भ होकर - [[सीरिया]] और [[इराक़|इराक]] में प्रविष्ट होती है और शात अल-अरब में दजला नदी से मिलती है और [[फ़ारस की खाड़ी]] में गिरती है।
इसका ज़िक्र बाइबल और क़ुरआन दोनों मे मिलता है कि के बाइबल के प्रकाशितवाकय अद्धाए 15 मे मिलता है islam k mutabik aisa kaha jata hai ki farat nadi se sone k pahad nikalenge jo ki us waqt hoga jab duniya khatan hone k najdik hogi
{{भूगोल-आधार}}